Home /News /uttarakhand /

dana golu devta temple is located in almora localuk

अल्मोड़ा: भटके हुए लोगों को राह दिखाते हैं डाना गोलू देवता, मंदिर में खिचड़ी के साथ बीड़ी चढ़ाने का रिवाज

अल्मोड़ा शहर से तकरीबन 12 किलोमीटर की दूरी पर डाना गोलू देवता का प्रसिद्ध मंदिर है. माना जाता है कि वह राह भटकते लोगों को स्वयं रास्ता दिखाते हैं. वहीं, मंदिर में आपको शादी के कार्ड और चिट्ठियों के रूप में मन्नतों की अर्जियां भी देखने को मिलेंगी.

अधिक पढ़ें ...

    (रिपोर्ट- रोहित भट्ट)

    अल्मोड़ा. सांस्कृतिकनगरी अल्मोड़ा के मुख्य शहर से तकरीबन 12 किलोमीटर की दूरी पर डाना गोलू देवता का मंदिर (Dana Golu Devta Temple in Almora) स्थित है. आप सोच रहे होंगे कि कहीं हम चितई गोलू देवता की बात तो नहीं कर रहे, लेकिन यहां हम बात कर रहे हैं डाना गोलू देवता की. इस मंदिर की भी विशेष मान्यता है. कुमाऊं के कई जिलों में इनके मंदिर स्थित हैं. माना जाता है कि डाना गोलू देवता राह भटके हुए लोगों को सही मार्ग दिखाते हैं.

    स्थानीय निवासी बताते हैं कि पहले चितई के गोल्ज्यू भगवान के दर्शन किए जाते हैं, उसके बाद श्रद्धालु डाना गोलू देवता के दर्शन करते हैं. इस इलाके में जब कोई रास्ता भटक जाता है, तो डाना गोलू स्वयं उसे रास्ता दिखाते हैं. मान्यता है कि वह लोगों की जंगली जानवरों से भी रक्षा करते हैं.

    मंदिर में खिचड़ी के साथ-साथ बीड़ी चढ़ाने का रिवाज
    मंदिर में डाना गोलू देवता को खिचड़ी के साथ-साथ बीड़ी चढ़ाने का भी रिवाज है. दरअसल यह बीड़ी डाना गोलू देवता के लिए नहीं बल्कि उनके गणों के लिए होती है. मंदिर में आपको शादी के कार्ड और चिट्ठियों के रूप में मन्नतों की अर्जियां भी देखने को मिलेंगी. यहां हर साल हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं.

    डाना गोलू देवता मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको दो रास्ते मिलते हैं. पहला अल्मोड़ा के एनटीडी से होते हुए आप यहां पहुंच सकते हैं. दूसरा रास्ता धारानौला से होते हुए इस मंदिर तक आपको पहुंचाता है. डाना गोलू देवता का मंदिर चितई मंदिर से करीब 100 मीटर पहले है.

    Dana Golu Devta Temple in Almora

    Tags: Almora News, Temples, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर