• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • जिला प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत ने नहीं की अल्मोड़ा में विकास कार्यों की समीक्षा

जिला प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत ने नहीं की अल्मोड़ा में विकास कार्यों की समीक्षा

प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत ने एक बार भी नहीं की अल्मोड़ा में विकास कार्यों की समीक्षा.

प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत ने एक बार भी नहीं की अल्मोड़ा में विकास कार्यों की समीक्षा.

जब से हरक सिंह रावत को अल्मोड़ा जिले की जिम्मेदारी मिली है तब से वह अल्मोड़ा नहीं आए हैं. आए दिन फाइलों में हस्ताक्षर कराने के लिए अधिकारी देहरादून के चक्कर काट रहे हैं, जबकि वित्त मंत्री प्रकाश पंत उनका बचाव कर रहे हैं.

  • Share this:
जिले के विकास कार्यों में तेजी के लिए मुख्यमंत्री ने प्रभारी मंत्रियों को जिम्मेदारी दी है. जिला योजना सहित सभी विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए प्रति तिमाही प्रभारी मंत्री समीक्षा बैठक लेते हैं. लेकिन अल्मोड़ा जिला के प्रभारी मंत्री बनने के बाद से हरक सिंह रावत एक बार भी अल्मोड़ा नहीं आए हैं. उनके नहीं आने से जिला में विकास कार्य प्रभावित हुए हैं.

लेकिन अल्मोड़ा जिला के प्रभारी मंत्री का बचाव करते हुए इस बारे में वित्त व संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि अपेक्षा है कि सभी प्रभारी मंत्री अपने-अपने क्षेत्र में जाएं. मंत्री हरक सिंह रावत का नाम लिए बिना प्रकाश पंत ने आगे कहा कि उन्होंने भी अल्मोड़ा जाने का कार्यक्रम तय किया था. मगर कुछ कारणों से उन्हें अपने कार्यक्रम स्थगित करने पड़े. उन्होंने आगे कहा कि प्रयास रहेगा कि मंत्री अल्मोड़ा जिला में समीक्षा बैठक के लिए उपस्थित हों.

वहीं इस बारे में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष पीताम्बर पांडे ने कहा कि लगभग एक साल का समय हो गया है. अल्मोड़ा जिला के प्रभारी मंत्री एक बार भी यहां नहीं आए हैं. इस वजह से अल्मोड़ा जिला की तमाम योजनाएं प्रभावित हुई हैं. इससे जिला का विकास भी प्रभावित हुआ है. उन्होंने आगे कहा कि विकास कार्यों को आगे बढ़ाने में निश्चित ही दिक्कतें आ रही होंगी.

बता दें कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद पहले राज्य मंत्री धन सिंह रावत फिर कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को अल्मोड़ा का प्रभारी मंत्री बनाया गया. लेकिन जब से हरक सिंह रावत को अल्मोड़ा जिले की जिम्मेदारी मिली है तब से वह अल्मोड़ा नहीं आए हैं. आए दिन फाइलों में हस्ताक्षर कराने के लिए अधिकारी देहरादून के चक्कर काट रहे हैं, जबकि वित्त मंत्री प्रकाश पंत उनका बचाव कर रहे हैं.

सभी जिलों में मुख्यमंत्री विकास कार्यों की समीक्षा करने नहीं पहुच सकते हैं. इसीलिए जिलों में प्रभारी मंत्रियों की नियुक्ति की जाती है. अल्मोड़ा में मुख्यमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट कोसी पुनर्जनन, अल्मोड़ा महोत्सव सहित निकाय चुनाव हुए. लेकिन यहां प्रभारी मंत्री ने दर्शन नहीं दिए. दूसरी तरफ मुख्यमंत्री इस दौरान अल्मोड़ा का कई बार दौरा कर चुके हैं.

ये भी देखें - VIDEO: सड़क नहीं बनने से नाराज ग्रामीणों ने सरकार का फूंका पुतला

ये भी पढ़ें - डीएम ने जिले से बाहर कार्यरत 21 विकास अधिकारियों का वेतन रोका

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज