लाइव टीवी

वन भूमि ट्रांस्फ़र न होने से दर्जनों सड़कों का निर्माण फंसा... कांग्रेस ने सरकार को बताया विकास विरोधी
Almora News in Hindi

Kishan Joshi | News18 Uttarakhand
Updated: January 27, 2020, 11:26 AM IST
वन भूमि ट्रांस्फ़र न होने से दर्जनों सड़कों का निर्माण फंसा... कांग्रेस ने सरकार को बताया विकास विरोधी
राज्य में हरिद्वार जिले को छोड़कर अन्य ज़िलों में क्षतिपूर्ति के लिए वन भूमि नहीं हैं. इसकी वजह से सड़कों के निर्माण सहित अन्य निर्माण कार्य पूरी तरह से ठप हो गए हैं.

वन मंत्री हरक सिंह रावत भी विकास कार्य ठप होने पर चिंता जताते हैं.

  • Share this:
अल्मोड़ा. राज्य में वन भूमि ट्रांस्फर न होने से दर्जनों सड़कों सहित अन्य निर्माण कार्य ठप हो गए हैं. क्षतिपूर्ति के लिए भूमि नहीं मिलने की वजह से वन विभाग निर्माण के लिए सहमति नही दे रहा है. ऐसे में कांग्रेस आरोप लगा रही है कि भाजपा की डबल इंजन सरकार विकास विरोधी है. दूसरी ओर वन मंत्री हरक सिंह रावत दावा कर रहे हैं कि जल्द ही इस समस्या का समाधान होगा.

फिर होगा सर्वे 

राज्य में हरिद्वार जिले को छोड़कर अन्य ज़िलों में क्षतिपूर्ति के लिए वन भूमि नहीं हैं. इसकी वजह से सड़कों के निर्माण सहित अन्य निर्माण कार्य पूरी तरह से ठप हो गए हैं. वन मंत्री हरक सिंह रावत भी विकास कार्य ठप होने पर चिंता जताते हैं.

अल्मोड़ा पहुंचे हरक सिंह रावत ने कहा कि वन भूमि का सर्वे दोबारा करवाया जाएगा और जहां वन भूमि में पेड़ नहीं हैं वहां क्षतिपूर्ति के लिए पेड़ लगाए जाएंगे.

क्या कर रही है सरकार?

इधर विपक्ष को बैठे-बैठाए भाजपा सरकार को घेरने का मौका मिल गया है. राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा पूछते हैं कि डबल इंजन सरकार कोई समाधान क्यों नहीं निकाल पा रही है? वह कहते हैं कि स्थिति चिंताजनक है और अगर जल्द ही इसका समाधान नहीं निकाला गया तो राज्य में विकास ठप हो जाएगा.

राज्य की सरकार को जल्दी ही क्षतिपूर्ति भूमि का समाधान निकालना होगा ताकि विकास का पहिया रुके नहीं. अब भी सैकड़ों गांव सड़क से महरूम हैं और इसकी वजह से हजारों लोगों की स्वास्थ्य, शिक्षा, विकास तक पहुंच नहीं बन पा रही है.ये भी देखें: 

बेशकीमती इमारती लकड़ी, सागौन, के जंगल काट रहा है उत्तराखंड वन विभाग... यह है कारण

कोटद्वार-रामनगर कंडी मार्ग विवाद: लैंसडाउन एमएलए ने वन विभाग को बताया लचर

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अल्मोड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 11:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर