होम /न्यूज /उत्तराखंड /Almora news: जेल में कैदियों ने उगाए मशरूम, अब बाजार में बिक्री के लिए तैयार

Almora news: जेल में कैदियों ने उगाए मशरूम, अब बाजार में बिक्री के लिए तैयार

अल्मोड़ा जेल के कैदियों को मशरूम उगाने की ट्रेनिंग दी गई. यह ट्रेनिंग काम कर गई और अब मशरूम तैयार होकर बाजार में बिकने क ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: रोहित भट्ट

अल्मोड़ा: उत्तराखंड की अल्मोड़ा जेल देश की ऐतिहासिक जेलों में गिनी जाती है. यहां कैदियों को मानसिक तनाव से दूर रखने व उनको सजा पूरी होने के बाद आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी तमाम तरह के प्रयास किए जा रहे हैं. इस दिशा में पहली बार अल्मोड़ा जेल में कैदियों को मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग दी गई, जिससे वह आत्मनिर्भर हो सकें. नवंबर महीने में जेल प्रशासन ने करीब 30 कैदियों को मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग दी गई थी.

कैदियों द्वारा लगाए गए मशरूम अब तैयार हो चुके हैं और उन्हें बाजार में बेचा जा रहा है. अल्मोड़ा जेल अधीक्षक जयंत पांगती ने बताया कि कैदियों को आत्मनिर्भर बनाने और उन्हें कैसे नए काम से जोड़ा जाए, इसके लिए मशरूम की ट्रेनिंग दी गई थी. ट्रेनिंग के दौरान जेल में करीब 128 मशरूम के बैग लगाए गए थे, जिनमें से करीब 80 किलो मशरूम अभी तक निकल चुका है, जिसे बाजार में बेचा जा रहा है. बताया कि मशरूम उत्पादन की जानकारी पूरी व्यवहारिक थी.

ताकि कैदी नया रोजगार कर सकें
ट्रेनिंग के दौरान कैदियों को मशरूम की उगाई से लेकर उसके तैयार होने तक पूरी जानकारी दी गई. अब तैयार हो रही मशरूम की सफाई करने के बाद उनको पैक किया जा रहा है. जेल अधीक्षक का मानना है कि जेल में ट्रेनिंग कराने का मकसद यह है कि जो कैदी जेल में बंद हैं, वे जब बाहर जाएं तो खुद का स्वरोजगार शुरू कर सकें और भविष्य में उनके आत्मनिर्भर बनाने के लिए यह प्रयोग कारगर सिद्ध होगा.

‘मशरूम लेडी’ ने दी थी ट्रेनिंग
‘मशरूम लेडी’ के नाम से मशहूर प्रीति भंडारी ने बताया कि नवंबर के महीने में जेल में बंद कैदियों को मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग संस्था द्वारा दी गई थी. यहां कैदियों को बटन मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग दी गई थी. जेल में 128 मशरूम के बैग लगाए गए, जिसमें से करीब 80 किलो मशरूम अभी तक निकला है और जिसे अब बाजार में बेचा जा रहा है.

Tags: Almora News, Jail, Mushroom, Uttarakhand news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें