उत्तराखंड: कई मंदिरों में लगे 'गैर हिंदू न करें प्रवेश' लिखे बैनर, पुलिस ने जीतू रंधावा के खिलाफ दर्ज किया केस

उत्तराखंड: कई मंदिरों में लगे 'गैर हिंदू न करें प्रवेश के बैनर'

उत्तराखंड: कई मंदिरों में लगे 'गैर हिंदू न करें प्रवेश के बैनर'

डासना शिव मंदिर के बाद अब उत्तराखंड के कई मंदिरों में 'गैर हिंदुओं के प्रवेश' के बैनर लगा दिए हैं. उत्तराखंड के प्रेमनगर क्षेत्र के कई मन्दिरों में गैर हिंदुओं के मंदिरों में प्रवेश वर्जित को लेकर बैनर हिंदू युवा वाहिनी ने लगाए. बैनरों को देखकर लोग हैरान हैं.

  • Share this:
देहरादून. उत्तर प्रदेश के डासना शिव मंदिर ( Dasna Shiva Temple) के बाद अब उत्तराखंड ( Uttarakhand) के कई मंदिरों में गैर हिंदुओं के प्रवेश के बैनर लगा दिए हैं. उत्तराखंड के प्रेमनगर क्षेत्र के कई मन्दिरों में गैर हिंदुओं के मंदिरों में प्रवेश वर्जित को लेकर बैनर लगाए गए हैं. मन्दिरों में अचानक लगाए गए इन बैनरों को देखकर लोग हैरान हैं. ये बैनर हिंदू युवा वाहिनी ( Hindu Yuva Vahini) के कार्यकर्ताओं ने लगाए हैं. बैनर में बकायदा लिखा गया है कि यह तीर्थ हिंदुओं का पवित्र स्थल है, इसमें गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है. इस मामले पर कांग्रेस ने भाजपा को घेरा है. पुजारियों ने बैनर की जानकारी से इनकार कर दिया. वहीं, पुलिस ने बैनर में लिखे मोबाइल नंबर धारक पर मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया है.

उत्तराखंड के कई मंदिरों में इस तरह के बैनर लगाए जाने को लेकर कांग्रेस की ओर से प्रतिक्रिया आई है. कांग्रेस ने इसे बीजेपी और संघ परिवार द्वारा धार्मिक ध्रुवीकरण करने की साजिश करार दिया है. कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि उत्तराखंड में वैसे भी सभी धर्मों के लोग सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों का सम्मान करते हैं. सामान्य तौर पर भी न कोई मुसलमान मंदिर में जाता है और न कोई हिंदू मस्जिद में पहुंचता है. फिर इस तरह के बैनर लगाना अनुचित है. सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है. इसलिए अब धार्मिक ध्रुवीकरण कर समाज में माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है.

Youtube Video


मंदिरों के मुख्यद्वार पर लगाए गए बैनरों को लेकर भाजपा की ओर से भी सफाई आई है. बीजेपी के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने कांग्रेस के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि हिंदू युवा वाहिनी बीजेपी का कोई संगठन नहीं है. जिस संगठन ने बैनर चिपकाए उसी से पूछा जाना चाहिए कि उसने ऐसा क्यों किया है.
मंदिर के पुजारी से बिना पूछे लगाए बैनर

देहरादून के दर्शनलाल चौक पर स्थित पंचायती मंदिर पर भी ऐसा ही बैनर लगाया गया है. इसकी जानकारी पुजारी को ही नहीं थी. मंदिर के पुजारी शशि बल्लभ शास्त्री का कहना है कि उनका इस बैनर से कोई लेना-देना नहीं है. हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता रात को आए और बैनर लगा कर चले गए. मंदिर के पुजारी का कहना है कि वह वैसे भी इस मंदिर में कोई दूसरे धर्म के लोग नहीं आते हैं.

क्या बोले हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष



इस मामले पर हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद वाधवा का कहना है कि हिंदू धर्म स्थलों में गैर धर्म के विधर्मी लोगों की घुसने की घटनाएं सामने आ रही हैं. इसलिए उन्होंने एक अभियान चलाकर मंदिरों में गैर हिंदू लोगों के प्रवेश वर्जित को लेकर नोटिस बोर्ड लगाने शुरू किए हैं. देहरादून से इसकी शुरुआत की गई है धीरे-धीरे पूरे प्रदेश भर में हिंदू युवा वाहिनी ऐसे बोर्ड लगाएगी.

पुलिस हटवा रही बैनर

इस मामले में  दून पुलिस भी लापरवाह नजर आ रही है. पुलिस मन्दिरों पर लगे बैनर तो हटा रही है, लेकिन बैनर लगाने वालों पर कोई सख्ती अभी तक नजर नहीं आ रही है. एसपी सिटी सरिता डोभाल से जब बात की तो एसपी सिटी ने पूछा कि बैनर कहां लगा है, उन्होंने पहले बैनर हटवाते हैं, फिर देखते हैं कहते हुए फोन रख दिया.  पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज