अब मिठाइयों पर भी लिखना होगा एक्सपायरी डेट, आज से ही लागू हुआ कानून

आज से जब आप मिठाई की दुकान पर खरीदारी करें तो मिठाई की उम्र का लेवल ज़रूर देखें यानी कि बेस्ट बिफ़ोर डेट.
आज से जब आप मिठाई की दुकान पर खरीदारी करें तो मिठाई की उम्र का लेवल ज़रूर देखें यानी कि बेस्ट बिफ़ोर डेट.

केंद्र सरकार ने लोगों की सेहत के मद्देनजर अब हर मिठाई की दुकान पर बेस्ट बिफोर डेट (Best Before Date) लिखना ज़रूरी कर दिया. प्रदेश भर में 29 फ़ूड सेफ्टी ऑफिसर सुनिश्चित करेंगे कि FSSAI के नियम लागू हों.

  • Share this:
देहरादून. आज से जब आप मिठाई की दुकान (Sweets Shop) पर खरीदारी करें तो मिठाई की उम्र का लेवल ज़रूर देखें यानी कि बेस्ट बिफ़ोर डेट. केंद्र सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य के मद्देनजर अब हर मिठाई की दुकान पर बेस्ट बिफोर डेट (Best Before Date) लिखना ज़रूरी कर दिया. अब मिठाई बेचने वालों को दुकान में लगी मिठाई की ट्रे पर मिठाई बनाने की तारीख और बेस्ट बिफ़ोर डेट लिखना ही होगा. इससे ग्राहक को यह पता चल पाएगा कि मिठाई कब बनी है और दुकानदार उसे बातों के जाल में फंसाकर खराब हो रही मिठाई नहीं बेच पाएगा. बशर्ते ग्राहक जागरूक हों.

हलवाइयों को मिले निर्देश

FSSAI यानी खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण ने मिठाई की दुकानों में मिठाई बनाने के बनाने और खराब होने की तारीख लिखे जाने के निर्देश मिठाई बनाने वालों को भी मिल गए हैं. उत्तराखंड हलवाई एसोसिएशन के अध्यक्ष आंनद गुप्ता ने न्यूज़ 18 को बताया कि उनकी एसोसिएशन से 500 से ज्यादा लोग जुड़े हैं.



गुप्ता ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने उन्हें FSSAI दिशानिर्देश दे दिए हैं. मिठाई पर डेट न लिखे होने पर खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि देहरादून, हल्द्वानी, हरिद्वार की मिठाई एसोसिएशन इसके समर्थन में है लेकिन छोटे हलवाइयों को इस पर खास तौर पर ऐहतियात बरतनी होगी और उन्हें जागरूक किए जाने की भी ज़रूरत है.
जनता की जागरुकता ज़रूरी 

उत्तराखंड में 29 फ़ूड सेफ्टी ऑफिसर हैं. ये दुकानों में जाकर इस बात की तस्दीक करेंगे कि मिठाई पुरानी न हो. 12 डिस्ट्रिक्ट डेज़िग्नेटिड ऑफिसर भी इस काम में उनका साथ देंगे. हालांकि अधिकारी मानते हैं कि इस काम के लिए लोग कम हैं. फ़ूड सेफ्टी ऑफिसर आरएस रावत कहते हैं कि यह नियम प्रभावी ढंग से लागू हो पाए इसलिए आम जनता को जागरूक होना होगा. लोग खाद्य सुरक्षा विभाग को शिकायत करेंगे तो कार्रवाई की जाएगी.

अब इतने कम स्टाफ में प्रदेश भर में मिठाई की दुकानों में चेकिंग अभियान को अंजाम देना कितना सफल होगा , यह तो अगले कुछ दिनों में पता चल ही जाएगा. हालांकि इतना ज़रूर है कि अगर हम खुद इस बात को लेकर जागरूक होंगे तो सेहत को नुकसान होने से बचा सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज