लोकसभा चुनाव : राज्य मंत्री रेखा आर्या ने सांसद अजय टम्टा के खिलाफ खोला मोर्चा

अल्मोड़ा संसदीय सीट से भाजपा का टिकट पाने के लिए कई नेता दावेदारी ठोक रहे हैं. यहां राज्य मंत्री रेखा आर्या ने सांसद अजय टम्टा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

Kishan Joshi | News18 Uttarakhand
Updated: March 17, 2019, 1:40 PM IST
लोकसभा चुनाव : राज्य मंत्री रेखा आर्या ने सांसद अजय टम्टा के खिलाफ खोला मोर्चा
सांसद अजय टम्टा और राज्य मंत्री रेखा आर्या
Kishan Joshi | News18 Uttarakhand
Updated: March 17, 2019, 1:40 PM IST
लोकसभा चुनाव तारीखों की घोषणा होने के बाद से हर राजनीतिक पार्टी के अंदर टिकट पाने के लिए नेताओं के बीच घमासान मचा हुआ है. हर कद्दावर नेता खुद को योग्य बताते हुए किसी खास सीट से चुनाव लड़ने की दावेदारी करता नजर आ रहा है. इसी तरह अल्मोड़ा संसदीय सीट से भाजपा का टिकट पाने के लिए कई नेता दावेदारी ठोक रहे हैं. यहां राज्य मंत्री रेखा आर्या ने सांसद अजय टम्टा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. रेखा आर्या ने कहा है कि वह पिछले 5 सालों में अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र में पड़ने वाले चारों जिलों में जाकर लोगों से लोकसभा चुनाव के लिए मुलाकात कर चुकी हैं. रेखा आर्या को हाई कमान से भी खुद के नाम पर मुहर लगने की उम्मीद है. वहीं वर्तमान सांसद अजय टम्टा पैनल में तीन नाम भेजे जाने का जिक्र करते हुए कहते हैं कि अंतिम फैसला केन्द्रीय संसदीय बोर्ड ही करेगा.

वर्तमान में अल्मोड़ा से सांसद अजय टम्टा ने कहा कि स्टेट पार्लियामेंट्री कमेटी में रहते हुए उन्होंने पैनल में चंदन राम दास और रेखा आर्या के साथ खुद का नाम भेजा है. उन्होंने कहा कि सेंट्रल पार्लियामेंट्री बोर्ड टिकट दिए जाने का अंतिम फैसला करेगा.

वहीं रेखा आर्या ने कहा कि 2014 से लेकर अभी तक उन्होंने अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ सीट पर काफी काम किया है. उन्होंने कहा कि इस दौरान वह आम लोगों से मिलती जुलती रही हैं और उनका हमेशा ही कार्यकर्ताओं के साथ संपर्क रहा है. रेखा आर्या ने आगे कहा कि लोगों से मिलते जुलते रहने के दौरान उन्हें हमेशा ही ऐसा लगा कि लोगों की भावनाओं को सम्मान मिलना चाहिए. इस पृष्ठभूमि के तहत ही उन्होंने अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ सीट से अपनी दावेदारी पेश की है.



रेखा आर्या ने कहा कि वह पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के समक्ष भी अपनी दावेदारी रख चुकी हैं और उन्हें उम्मीद है कि उनके नाम पर मुहर लगेगी. लोगों को एक नया परिवर्तन देखने को मिलेगा. उन्होंने कहा कि वह आशावादी हैं.

ये भी पढ़ें - देवभूमि से राहुल गांधी ने मोदी सरकार को बेरोजगारी, कर्जमाफी, राफेल सहित कई मुद्दों पर घेरा

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड में हैं 88,600 सर्विस मतदाता, ई-सिस्टम से भेजे जाएंगे मतपत्र

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...