होम /न्यूज /उत्तराखंड /

Champawat: गड्ढों वाली सड़क बनी परेशानी, अल्मोड़ा से देवीधुरा पहुंचने में लोगों के छूट रहे पसीने

Champawat: गड्ढों वाली सड़क बनी परेशानी, अल्मोड़ा से देवीधुरा पहुंचने में लोगों के छूट रहे पसीने

अल्मोड़ा से 75 किलोमीटर की दूरी पर चंपावत जिले में विश्व प्रसिद्ध देवीधुरा का मंदिर है. इस मंदिर में लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं, लेकिन सड़कें खराब होने की वजह से श्रद्धालुओं को काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है.

रिपोर्ट- रोहित भट्ट

अल्मोड़ा/चंपावत. अगर आपको उत्तराखंड के चंपावत जिले के देवीधुरा के प्रसिद्ध मां वाराही मंदिर जाना है और आप अल्मोड़ा होते हुए जा रहे हैं, तो आपको बेहद खराब रास्ते से होते हुए जाना पड़ेगा. दरअसल जहां तक आप नजर दौड़ाएंगे, वहां सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे आपको नजर आएंगे. बारिश के मौसम में गड्ढों में पानी भर रहा है और इसकी वजह से दोपहिया वाहन चालक सड़क दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं.

अल्मोड़ा से 75 किलोमीटर की दूरी पर है विश्व प्रसिद्ध देवीधुरा का मंदिर, इस मंदिर में लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं. अल्मोड़ा से जाने वाले श्रद्धालु इसी सड़क से होते हुए मंदिर तक पहुंचते हैं. इस सड़क पर गड्ढे होने की वजह से स्थानीय लोगों के साथ श्रद्धालुओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. जबकि सड़क पर गड्ढे होने की वजह से वाहन चालकों को काफी परेशानी होती है. पहले अल्मोड़ा से देवीधुरा पहुंचने में करीब दो से ढाई घंटे लगते थे, वहीं अब खराब सड़क की वजह से यह सफर करीब साढ़े तीन घंटे का हो गया है.

वाहन चालक हयात सिंह रावत ने बताया कि विश्व प्रसिद्ध देवीधुरा मंदिर में लाखों की संख्या में यहां श्रद्धालु आते हैं. इसी सड़क से स्थानीय लोगों के साथ श्रद्धालु आते हैं, लेकिन इस सड़क में गड्ढे होने की वजह से दोपहिया और चौपहिया वाहन चालकों को काफी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं. इस सड़क से जनप्रतिनिधि भी आते हैं, पर उसके बावजूद भी इस सड़क का हाल दिन प्रतिदिन खराब होता जा रहा है.

लोहाघाट के अधिशासी अभियंता बीसी भंडारी ने इस बारे में कहा कि जहां पर सड़क खराब है, बरसात के बाद उनको पैच वर्क कर ठीक कर दिया जाएगा. जो सड़क में अन्य काम होना होगा, उसे भी तुरंत ठीक किया जाएगा.

Tags: Almora News, Champawat News

अगली ख़बर