• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • Surgical Strike 2: सुनिए उस पिता की बात जिसके दोनों बेटे LOC पर हैं तैनात

Surgical Strike 2: सुनिए उस पिता की बात जिसके दोनों बेटे LOC पर हैं तैनात

प्रेम सिंह सांगा के दोनों बेटे पाकिस्तान सीमा पर सेना की टुकडियों को कमांड कर रहे हैं.

प्रेम सिंह सांगा के दोनों बेटे पाकिस्तान सीमा पर सेना की टुकडियों को कमांड कर रहे हैं.

प्रेम सिंह सांगा कहते हैं आंतकवाद और सीमा पर गोलीबारी की वजह से सीमांत इलाक़ों में दोनों तरफ़ रहने वाले लोगों को परेशानी होती है.

  • Share this:
सीमा पर भारत-पाकिस्तान के बीच जारी तनातनी से देश भर में जोश भी है और तनाव भी. पाकिस्तान की हरकतों को लेकर गुस्सा है और भारतीय सेना के पराक्रम को देखकर जोश. देवभूमि उत्तराखंड को सैनिकों का राज्य भी कहा जाता है, इसलिए यहां के लोग इस मामले पर बारीकी से नज़र रखे हुए हैं. पूर्व सैनिक और ऐसे सैनिकों के परिवार जो सीमा पर तैनात हैं ख़ासकर इस मामले से जुड़ाव महसूस कर रहे हैं.

यह भी देखें- Surgical Strike 2: पाकिस्तान पर दबाव बनाए रखने के पक्ष में हैं पूर्व सैन्य अधिकारी

अल्मोड़ा के सांगा परिवार के कई सदस्य देश की सेवा में है. लेफ्टिनेंट कमांडर (रिटायर्ड) एचएस सांगा  1971 की पाक जंग में शामिल रहे हैं. उनके भाई के दोनों बेटे जम्मू-कश्मीर में तैनात हैं. इसके अलावा कई रिश्तेदार और हैं जो देश की सेवा कर रहे हैं. भारत की पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक से वह काफ़ी ख़ुश हैं.

liutinent commandar sanga
लेफ्टिनेंट कमांडर (रिटायर्ड) एचएस सांगा 1971 की पाक जंग में शामिल रहे हैं.


लेफ़्टिनेंट कमांडर (रिटायर्ड) सांगा मानते है कि पाक अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आएगा और जब तक भारत जबावी कार्रवाई नहीं करेगा तब तक वह ऐसा ही करेगा.

यह भी देखें- Surgical Strike 2.: रुद्रप्रयाग में पूर्व सैनिकों ने लगाए इमरान खान मुर्दाबाद के नारे

प्रेम सिंह सांगा उत्तराखण्ड में एसपी रहे हैं. उनके दोनों बेटे पाकिस्तान सीमा पर सेना की टुकडियों को कमांड कर रहे हैं. दोनों बेटे एलओसी पर तैनात हैं जहां लगातार गोलीबारी हो रही है. पिछले तीन साल से छुट्टी न मिलने की वजह से उनके बेटे घर नहीं लौटे हैं इसलिए वह परिवार सहित बच्चों से मिलने गए थे. वह अपने बड़े भाई एचएस सांगा से अलग तरह के स्वर में बात करते हैं.

यह भी देखें- VIDEO: चीन और पाक के दांत खट्टे करने वाला 89 साल का जांबाज एक बार फिर है तैयार

प्रेम सिंह सांगा कहते हैं 14 तारीख को जब सीआरपीएफ़ के कैंप पर आतंकी हमला हुआ उस दिन वह कश्मीर में ही थे. वहां वह अपने बच्चों से मिलने गए थे. सांगा कहते हैं कि फौज के अलर्ट पर रहने से सीमा पर तैनात सैनिक, अफ़सर तनाव में रहते हैं. वह यह भी कहते हैं कि आंतकवाद और सीमा पर गोलीबारी की वजह से सीमांत इलाक़ों में रहने वाले दोनों तरफ़ के लोगों को परेशानी होती है, उनकी रोज़मर्रा की ज़िंदगी भी प्रभावित होती है.

यह भी देखें- VIDEO: PM मोदी के बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधन पर क्या कह गए सांसद प्रदीप टम्टा

भारत पाक के तनावपूर्ण होते रिश्तों से सांगा परेशान भी दिखे लेकिन कहा कि रोज़-रोज़ के इस तनाव को अब ख़त्म करना चाहिए. इस बार आतंकवाद के ख़िलाफ़ भारत को आर-पार की लड़ाई लड़नी चाहिए.

यह भी देखें- Surgical Strike 2.0: सीमा पर तनाव को देखते हुए देहरादून में सुरक्षा बढ़ाई गई

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज