• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • यौन शोषण के आरोपी BJP विधायक से नाराज महिलाओं ने की DNA टेस्ट की मांग

यौन शोषण के आरोपी BJP विधायक से नाराज महिलाओं ने की DNA टेस्ट की मांग

द्वाराहाट की महिलाओं का कहना है कि विधायक को जितनी जल्दी हो, डीएनए टेस्ट ज़रिए सच्चाई सामने लानी चाहिए.

द्वाराहाट की महिलाओं का कहना है कि विधायक को जितनी जल्दी हो, डीएनए टेस्ट ज़रिए सच्चाई सामने लानी चाहिए.

द्वारहाट के बीजेपी विधायक महेश नेगी (MLA Mahesh Negi) पर यौन शोषण के आरोप से उत्तराखंड की सियासत गर्माई. विधायक की पत्नी ने महिला पर लगाया ब्लैकमेल का आरोप, वहीं BJP नेताओं ने कहा साजिश.

  • Share this:
अल्मोड़ा. यहां की द्वाराहाट विधानसभा की पहचान एक दौर में यूकेडी (UKD) के संस्थापक विपिन चन्द्र त्रिपाठी हुआ करते थे. त्रिपाठी सूबे के सियासत में उसूलों की राजनीति के लिए जाने जाते थे. अर्से के बाद एक बार फिर यह विधानसभा सुर्खियों में हैं और इस बार एकदम विपरीत कारणों से. इस बार द्वाराहाट विधानसभा सुर्खियों में है भाजपा विधायक महेश नेगी (BJP MLA Mahesh Negi) पर लगे गंभीर आरोपों के चलते. नेगी पर यहीं की एक महिला ने दुराचार, यौन शोषण जैसे गंभीर आरोप जड़े हैं. घटना से नाराज महिलाओं ने विधायक के डीएनए टेस्ट (DNA Test) की मांग उठाई है.

द्वाराहाट के विधायक महेश नेगी इन दिनों सूबे की सियासत में चर्चाओं का केन्द्र बने हैं. नेगी पर उनके ही पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने दुराचार सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं. हालांकि विधायक की पत्नी ने भी महिला पर ब्लैकमेल करने का आरोप जड़ दिया है. अब इस पूरे घटनाक्रम पर द्वाराहाट से दूर देहरादून में चर्चाएं जोरों पर हैं. वहीं इसकी तपिश विधानसभा के हर कोने तक पहुंच गई है.

द्वाराहाट की महिलाओं में इस मामले को लेकर खासी नाराजगी भी दिखाई दे रही है. महिलाओं का कहना है कि विधायक को जितनी जल्दी हो, डीएनए टेस्ट ज़रिए सच्चाई सामने लानी चाहिए. स्थानीय निवासी कंचन शाह कहती हैं कि जनप्रतिनिधियों को लोगों की समस्याओं के निवारण के लिए चुना जाता है लेकिन विधायक ही महिलाओं के साथ दुराचार करेंगे तो समाज का क्या होगा. भाजपा विधायक को तत्काल अपना डीएनए टेस्ट करवाना चाहिए.

पहले भी आए हैं ऐसे मामले

सूबे की सियासत में इस तरह का यह पहला मामला नहीं है. पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को भी डीएनए टेस्ट के बाद रोहित शेखर को बेटा स्वीकार करना पड़ा था. यही नहीं, जेनी प्रकरण में तत्कालीन कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को भी तिवारी सरकार से इस्तीफा देना पड़ा था.

विधायक की पत्नी ने जिस महिला पर ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज करवाया है, उसका दावा है कि उसकी बेटी के जैविक पिता विधायक महेश नेगी हैं. द्वाराहाट का एक तबका ऐसा भी जो इस पूरे मामले में ईमानदारी से जांच की मांग कर रहा है, लेकिन भाजपा से जुड़े नेता इसे साजिश मान रहे हैं. भाजपा के द्वाराहाट मंडल के अध्यक्ष उमेश भट्ट का कहना है कि दोनों पक्षों की तरह से तहरीर दी गई है और मामले की जांच हो रही है. किसी के भी ऊपर गलत आरोप नहीं लगने चाहिए और न ही षड्यंत्र होना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज