होम /न्यूज /उत्तराखंड /अंकिता भंडारी का NIT घाट पर किया गया अंतिम संस्कार, उत्तराखंड के डीजीपी बोले- हत्यारों को दिलाएंगे फांसी

अंकिता भंडारी का NIT घाट पर किया गया अंतिम संस्कार, उत्तराखंड के डीजीपी बोले- हत्यारों को दिलाएंगे फांसी

श्रीनगर के एनआईटी घाट पर रविवार शाम अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया. (ANI फोटो)

श्रीनगर के एनआईटी घाट पर रविवार शाम अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया. (ANI फोटो)

श्रीनगर के एनआईटी घाट पर रविवार शाम अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस दौरान वहां बड़ी संख्या में मौजूद लोग ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

ऋषिकेश. उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल स्थित श्रीनगर में अलकनंदा नदी के किनारे एनआईटी घाट पर रविवार शाम अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया. अंकिता के भाई अजय सिंह भंडारी ने उसके शव को मुखाग्नि दी. इस दौरान वहां बड़ी संख्या में मौजूद लोगों ने नम आंखों से विदाई दी.

19 साल की अंकिता एक रिजॉर्ट में बतौर रिसेप्शनिस्ट काम करती थी, जहां उसके मालिक ने ही कथित रूप से उसकी हत्या कर दी थी. पुलिस ने इस मामले में रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य के साथ रिजॉर्ट के मैनेजर और एक अन्य शख्स को गिरफ्तार किया है.

वहीं इस हत्याकांड को लेकर लोगों में भारी गुस्से के बीच उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने अंकिता भंडारी के पिता को आश्वासन दिया कि उनकी पुत्री के हत्यारों को फांसी की सजा दिलाई जाएगी. अशोक कुमार ने वीरेंद्र सिंह भंडारी को यह आश्वासन फोन पर दिया. सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी साझा करते हुए कुमार ने कहा, .पीड़ित अंकिता भंडारी के पिता जी से मैंने फोन पर बातकर उन्हें निष्पक्ष जांच और दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए आश्वस्त किया है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा..

डीजीपी ने अंकिता के पिता को दिया भरोसा
उन्होंने कहा कि पुलिस पूरी निष्ठा से अपना काम कर रही है और सबूत ढूंढ़ लिए जाएंगे. इस संबंध में उन्होंने अंकिता के पिता को बताया कि पुलिस ने उपमहानिरीक्षक पी रेणुका देवी की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (सिट) गठित किया है, जो सारे सबूत ढूंढ़ लेगा.

घटना पर दुख प्रकट करते हुए कुमार ने कहा, .मैं आश्वस्त करता हूं कि विवेचना इतनी मजबूत होगी कि हम अदालत के सामने सबूत पेश करके दोषियों को हर हाल में फांसी की सजा दिलवा सकें..

अंकिता के अंतिम संस्कार के लिए तैयार नहीं था परिवार
इससे पहले अंकिता के परिजनों ने रविवार को कहा कि वे तब तक उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे, जब तक पोस्टमॉर्टम की अंतिम रिपोर्ट नहीं आ जाती. हालांकि, पहली रिपोर्ट में सामने आया था कि युवती की मौत डूबने से हुई. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश की ओर से जारी की गई मसौदा रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि मृतका अंकिता भंडारी के शव पर मौत से पहले के घाव के निशान पाए गए हैं. इससे संकेत मिलता है कि उसे किसी कुंद धार वाली वस्तु से मारा गया था.

एम्स के चार डॉक्टरों के एक दल ने शनिवार को अंकिता के शव का पोस्टमॉर्टम किया था. मसौदा रिपोर्ट में कहा गया है कि अंतिम रिपोर्ट में घाव की प्रकृति और अन्य जानकारी दी जाएगी. वहीं अंकिता के पिता और भाई ने रविवार को पहले कहा था कि जब तक पोस्टमॉर्टम की अंतिम रिपोर्ट नहीं आएगी, तब तक वे उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. हालांकि बाद में पुलिस अधिकारियों द्वारा समझाए जाने पर वह अंतिम संस्कार के लिए मान गए.

अंकिता पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लॉक में स्थित वानंतर रिजॉर्ट में काम करती थी, जिसके मालिक हरिद्वार के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य हैं. इस मामले में पुलकित और दो अन्य कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है. (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें