Home /News /uttarakhand /

नगालैंड हिंसा में उत्तराखंड के टिहरी का लाल हुआ शहीद, उग्र भीड़ ने मार दी थी गोली

नगालैंड हिंसा में उत्तराखंड के टिहरी का लाल हुआ शहीद, उग्र भीड़ ने मार दी थी गोली

गौतम लाल का घर टिहरी जिले के देवप्रयाग स्थित नौली गांव में है. वह 2018 में सेना की पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे. (File)

गौतम लाल का घर टिहरी जिले के देवप्रयाग स्थित नौली गांव में है. वह 2018 में सेना की पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे. (File)

शहीद जवान गौतम लाल के भाई सुरेश लाल ने बताया कि गौतम 2018 में सेना की पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे. गौतम का पार्थिव शरीर सोमवार दोपहर जॉली ग्रांट हवाई अड्डे पर पहुंचने की उम्मीद है. स्थानीय विधायक विनोद कंडारी गौतम का पार्थिव शरीर वहां ग्रहण करेंगे. उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जवान के शहीद होने पर दुख जताया है.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड (Nagaland Violence) के मोन जिले से उत्तराखंड के लिए बुरी खबर आई है. यहां शनिवार को हुई गोलीबारी के बाद भड़की हिंसा में एक जवान (Army Jawan Martyred) की मौत हो गई थी. इस जवान का नाम गौतम लाल था, जो उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल का रहने वाला था. गौतम लाल का घर टिहरी जिले के देवप्रयाग स्थित नौली गांव में है.

गौतम लाल अपने परिवार में पांच भाई और तीन बहनों में सबसे छोटा था. अपने सपूत की शहादत से पूरे परिवार में मातम पसरा है. शहीद जवान के भाई सुरेश लाल ने बताया कि गौतम 2018 में सेना की पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे. गौतम का पार्थिव शरीर सोमवार दोपहर जॉली ग्रांट हवाई अड्डे पर पहुंचने की उम्मीद है. स्थानीय विधायक विनोद कंडारी गौतम का पार्थिव शरीर वहां ग्रहण करेंगे.

ये भी पढ़ें- जिसने जीती गंगोत्री, उत्तराखंड में सरकार उसकी! इतिहास से मजबूत होता इस सीट का मिथक

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जवान के शहीद होने पर दुख जताया है. बता दें कि नगालैंड के मोन जिले में सुरक्षाबलों की ओर से गलत पहचान करने के चलते हुई गोलीबारी में 13 आम लोगों की मौत हो गई. इइसके बाद हुए दंगों में एक सैनिक की भी मौत हो गई और कई अन्य जवान घायल हो गए.

ये भी पढ़ें- सोमेश्वर सीट पर दिलचस्प मुकाबले की उम्मीद, रेखा आर्य के खिलाफ प्रदीप टम्टा को उतार सकती है कांग्रेस

सेना के जवानों को प्रतिबंधित संगठन नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड-के (NSCN-K) के युंग ओंग धड़े के उग्रवादियों की गतिविधि की सूचना मिली थी और इसी गलतफहमी में इलाके में अभियान चला रहे सैन्यकर्मियों ने वाहन पर कथित रूप से फायरिंग कर दी, जिसमें छह मजदूरों की जान चली गई.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब मजदूर अपने घर नहीं पहुंचे तो स्थानीय लोग उनकी तलाश में निकले और इन लोगों ने सेना के वाहनों को घेर लिया. इस दौरान हुई धक्का-मुक्की व झड़प में एक सैनिक मारा गया और सेना के वाहनों में आग लगा दी गई. इसके बाद सैनिकों द्वारा आत्मरक्षार्थ की गई गोलीबारी में सात और लोगों की जान चली गई. (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Nagaland, Tehri news, Uttarakhand big news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर