Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड चुनाव : दावेदारों की भरमार, कपकोट-बागेश्वर सीटों पर BJP कैसे पाएगी पार?

उत्तराखंड चुनाव : दावेदारों की भरमार, कपकोट-बागेश्वर सीटों पर BJP कैसे पाएगी पार?

बागेश्वर ज़िले में बीजेपी से टिकट के लिए कई नेता चुनावी रण में उतरे हैं.

बागेश्वर ज़िले में बीजेपी से टिकट के लिए कई नेता चुनावी रण में उतरे हैं.

Uttarakhand Election 2022 : बागेश्वर ज़िले में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले भाजपा का सिरदर्द बढ़ता हुआ दिख रहा है. भाजपा में जिस प्रकार से दावेदार अभी से ताल ठोक रहे हैं, स्वाभाविक है कि वर्तमान विधायकों (Seating MLA) को भी कड़ी टक्कर मिलने वाली है. ऐसे कई कार्यकर्ता हैं, जिनकी संगठन में अच्छी पकड़ है. इस बार टिकट के लिए राह आसान नहीं दिख रही है. एक सीट पर चर्चा है कि हैट्रिक लगाने वाले विधायक (BJP MLA) को चौथी बार टिकट मिलेगा या नहीं, और दूसरी पर सवाल है कि मौजूदा विधायक यह चुनाव लड़ेंगे या नहीं?

अधिक पढ़ें ...

    सुष्मिता थापा
    बागेश्वर. उत्तराखंड में भले ही मौसम सर्द है, लेकिन विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों को लेकर राजनीतिक गलियारों में गर्माहट खूब है. सभी दलों में टिकट के दावेदार सक्रिय हो चुके हैं क्योंकि इस महीने से पार्टियां अपने उम्मीदवारों का चयन और ऐलान करना शुरू कर देंगी. इन स्थितियों के बीच बागेश्वर ज़िले में भाजपा में दावेदारों की भरमार दिख रही है. ज़िले के विधानसभा क्षेत्रों में एक दर्जन से ज़्यादा दावेदार पार्टी में उभरकर आ रहे हैं. ज़िले में दो विधानसभाएं हैं, जिनमें से कपकोट विधानसभा क्षेत्र में करीब सात दावेदार हैं, जिन्होंने टिकट को लेकर मैराथन शुरू कर दी है.

    ज़िले की दो विधानसभा सीटों यानी कपकोट और बागेश्वर, दोनों सीटों पर फिलहाल भाजपा का ही कब्ज़ा है. कपकोट में बलवंत भौर्याल और बागेश्वर में चंदन राम दास सीटिंग विधायक हैं और सशक्त दावेदार भी. जीते हुए मौजूदा विधायकों के होते हुए भाजपा में नए दावेदारों की भी कमी नहीं है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार कपकोट विधानसभा से सविता नगरकोटी, सुरेश गढि़या, शेर सिंह गढि़या, गणेश मर्तोलिया, विक्रम शाही, वर्तमान ब्लॉक प्रमुख गोविन्द सिंह दानू आदि के नाम आगे आ रहे हैं. ये सभी विधानसभा चुनाव में पार्टी से टिकट की आस लगाए बैठे हैं.

    कपकोट विधायक चुनाव लड़ेंगे या नहीं?
    इनके अलावा, वर्तमान ज़िला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव के पति लक्ष्मण देव ने भी कपकोट विधानसभा से टिकट के लिए अपनी मंशा ज़ाहिर की है. भाजपा के कुछ कार्यकर्ता दबी जुबान में कपकोट विधायक बलवंत भौर्याल के चुनाव न लड़ने की बात भी कर रहे हैं, लेकिन विधायक कपकोट चुनाव मैदान में उतरेंगे या नहीं, अभी आधिकारिक तौर पर कुछ भी साफ नहीं है. वहीं, बागेश्वर सीट पर अब तक मारामारी अपेक्षाकृत कम दिख रही है.

    हैट्रिक लगा चुके हैं चंदन राम दास
    बागेश्वर सीट पर अभी तीन ही दावेदार सामने आए हैं. हालांकि सीटिंग विधायक दास यहां रिकॉर्ड कायम करते हुए 2007, 2012 और 2017 में लगातार तीन बार चुनाव जीत चुके हैं. इस सीट पर उनके अलावा पूर्व ज़िला पंचायत अध्यक्ष दीपा आर्या व जेसी आर्या ने भी दावेदार के तौर पर ताल ठोकी है. कहा जा रहा है​ कि ज़िले की राजनीति में सक्रिय मथुरा प्रसाद भी दावेदारों में शामिल हो सकते हैं.

    Tags: Bageshwar Assembly Seat, Bageshwar News, Bageshwar Politics, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand BJP, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर