बीएड डिग्री होल्डर्स का धरना, सरकार पर लगाया उपेक्षा का आरोप

बीएड, टीईटी. प्रशिक्षित महासंघ के बेरोजगार शिक्षकों ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों ने मांगों को समय रहते न माने जाने पर प्रदेश सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरने की चेतावनी दे डाली. इस मौके पर ओबीसी बीएड के बेरोजगार शिक्षक अमित कुमार आचार्य ने कहा कि नियम अनुसार 14 फीसदी ओबीसी, 4 फीसदी एसटी, और 19 फीसदी एससी को शिक्षको की भर्ती में आरक्षण दिया गया है.

Manoj Juyal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 22, 2016, 4:15 PM IST
बीएड डिग्री होल्डर्स का धरना, सरकार पर लगाया उपेक्षा का आरोप
Demo Pic
Manoj Juyal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 22, 2016, 4:15 PM IST
बीएड, टीईटी. प्रशिक्षित महासंघ के बेरोजगार शिक्षकों ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों ने मांगों को समय रहते न माने जाने पर प्रदेश सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरने की चेतावनी दे डाली.

इस मौके पर ओबीसी बीएड के बेरोजगार शिक्षक अमित कुमार आचार्य ने कहा कि नियम अनुसार 14 फीसदी ओबीसी, 4 फीसदी एसटी, और 19 फीसदी एससी को शिक्षको की भर्ती में आरक्षण दिया गया है. जिसमें एससी, एसटी की भर्तियां कर ली गयी है, लेकिन ओबीसी वालो के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है.

उन्होंने बताया वह अपनी इस समस्या को लेकर कई बार मुख्यमंत्री से भी मिल चुके हैं, लेकिन सिर्फ उनको आश्वासन ही मिलता है. उन्होंने सरकार पर भेदभाव का आरोप भी लगाया है. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जिन शिक्षको की भर्ती की गयी है, वे ना तो बीएड है और ना ही टीईटी हैं. फिर भी उनकी भर्ती की गयी और जो बीएड हैं, उनकी अह्वेलना की जा रही है.

उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सरकार का यही रवैया रहा तो बेरोजगार शिक्षक सडको पर उतर कर पूरे प्रदेश में आंदोलन करने को मजबूर होगा.
First published: August 22, 2016, 4:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...