लाइव टीवी

कांग्रेस के मंत्री लगाएंगे चुनाव में पार्टी की नैया पार

Mayank Rai | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 19, 2016, 10:24 PM IST
कांग्रेस के मंत्री लगाएंगे चुनाव में पार्टी की नैया पार
Photo Courtesy- ETV

उत्तराखंड में कांग्रेस संगठन का काम आसान करने के लिए अब मंत्री भी चुनावी जंग में कंधे से कंधा मिललाएंगे. मंत्री अब अपने विधानसभा क्षेत्रों के साथ ही अगल-बगल की सीटों पर भी जीत का जिम्मा लेंगे.

  • Share this:
उत्तराखंड में कांग्रेस संगठन का काम आसान करने के लिए अब मंत्री भी चुनावी जंग में कंधे से कंधा मिललाएंगे. मंत्री अब अपने विधानसभा क्षेत्रों के साथ ही अगल-बगल की सीटों पर भी जीत का जिम्मा लेंगे.

कांग्रेस संगठन और सरकार में सुलह के फार्मूले के तहत अब सिर्फ मुख्यमंत्री या संगठन नहीं बल्कि मंत्री भी मैदान में उतरेंगे. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री हरीश रावत के बीच बनी रणनीति के तहत मंत्रियों को अपने गढ़ बचाने के साथ प्रभाव वाली दो तीन सीटें जिताने का जिम्मा भी लेना होगा.

दरअसल, 18 मार्च की बगावत के बावजूद संगठन की सरकार के साथ रार से हारकर मंत्री अपने-अपने घर बचाने निकल पड़े, लेकिन साढ़े चार साल से सत्ता की मलाई खा रहे मंत्रियों को राहुल गांधी ने मैदान में सियासी हैसियत दिखाने का फरमान सुनाया है. इसमें संगठन को भी सब भूलकर साथ देने की नसीहत भी दी गई है.

रावत कैबिनेट में 11 मंत्री हैं और अगर अकेले मंत्री अपने साथ ही दो-तीन सीटे भी जीत लाने का माद्दा दिखा पाए तो कांग्रेस की नैया पार.

दरअसल, संगठन और सरकार के झगड़े में चुनावी हार के डर से मंत्रियों ने राज्य तो दूर प्रभारी जिलों के दौरे करना भी छोड़ दिया. अगर कद्दावर मंत्रियों की बात करें तो मंत्री इंदिरा ह्रदयेश पर अपनी सीट हल्द्वानी के अलावा लालकुंआ और कालाढूंगी सहित कुछ अन्य सीटों का जिम्मा भी सौंपा जा सकता है.

जबकि तराई में मजबूत पैठ रखने वाले मंत्री यशपाल आर्य अपनी बाजपुर सीट के अलावा नैनीताल सीट सहित जनपद उधमसिंहनगर की कई सीटों पर प्रभावी हो सकते हैं. इसी तरह राजेंद्र भंडारी, प्रीतम सिंह और बाकि मंत्री को अपने आस पास की सीटों को जितना का जिम्मा सौंपा जा सकता है.

बहरहाल, रावत कैबिनेट के मंत्रियों को मोर्चे पर उतारने की तैयारी तो हो गई है, लेकिन पांच साल तक सत्तासुख भोतने वाले मंत्री एंटी इनकमबेंसी को हराकर अपनी सीट के साथ-साथ अगल बगल की सीटें जिताने वाले महारथी साबित हो पाएंगे, ये कहना अभी जल्दबाजी होगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बागेश्‍वर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2016, 10:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...