Home /News /uttarakhand /

gairard post office employee started contractor job with saving account holders money

बागेश्वर: पोस्टमैन ने डकार ली लोगों की जमा पूंजी, ठेकेदारी में लगा दिया सारा पैसा

फिलहाल डाक विभाग द्वारा मामले की जांच शुरू कर दी है. माना जा रहा है कि ये राशि 25 से 30 लाख रुपये हो सकती है.

फिलहाल डाक विभाग द्वारा मामले की जांच शुरू कर दी है. माना जा रहा है कि ये राशि 25 से 30 लाख रुपये हो सकती है.

गैराड़ ब्रांच पोस्ट ऑफिस में कई ग्रामीणों ने अपना पैसा जमा कर रखा था. इन पैसों की एंट्री पासबुक में चढ़ी हुई है, लेकिन कोई भी जमा राशि पोस्ट ऑफिस के रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है. फिलहाल डाक विभाग द्वारा मामले की जांच शुरू कर दी है. माना जा रहा है कि ये राशि 25 से 30 लाख रुपये हो सकती है.

अधिक पढ़ें ...

सुष्मिता थापा
बागेश्वर. उत्तराखंड के बागेश्वर स्थित गैराड़ ब्रांच डाकघर में गबन का एक मामला सामने आया है. अपने सुनहरे भविष्य के लिए जीवनभर की जमापूंजी जमाकर्ताओं ने पोस्ट ऑफिस में इस भरोसे के साथ जमा की थी कि अच्छे बुरे वक़्त में उनका पैसा उनके काम आएगा और सुरक्षित रहेगा, लेकिन उन लोगों की जमापूंजी पोस्टमैन ने अपने ठेकेदारी के काम में लगा दी. अपनी जमापूंजी गंवा चुके उपभोक्ता अब ख़ामोशी से पैसा मिलने की उम्मीद लगाए बैठे हैं. फिलहाल डाक विभाग द्वारा मामले की जांच शुरू कर दी है. माना जा रहा है कि ये राशि 25 से 30 लाख रुपये हो सकती है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, गैराड़ ब्रांच पोस्ट ऑफिस में कई ग्रामीणों ने अपना पैसा जमा कर रखा था. इन पैसों की एंट्री पासबुक में चढ़ी हुई है, लेकिन कोई भी जमा राशि पोस्ट ऑफिस के रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है.

पहाड़ के दुर्गम क्षेत्रों में बैंक थोड़ा दूर होते हैं. ग्रामीणों का यहां तक पहुंचना थोड़ा खर्चीला और समय की बर्बादी भरा होता है. ब्रांच पोस्ट ऑफिस गांव में होते हैं, यहां पर पैसा जमा करना उनके लिए काफ़ी सुविधाजनक और आसान रहता है. ग्रामीण अपने पैसों को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से पेट काटकर सुनहरे भविष्य की उम्मीद से अपनी जमा पूंजी इन्हीं डाकघर में जमा करवाते हैं, जो कि अब बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं दिखते हैं.

बिलखेत-गैराड़ और आसपास के गांवों के ग्रामीणों को अंदाजा नहीं था कि पोस्ट आफिस में भी उनका पैसा सुरक्षित नहीं रहेगा. इन जमाकर्ताओं को जब पता चला कि जो राशि उन्होंने यहां जमा की थी, उसे पोस्ट आफिस के पोस्टमैन ने डकार लिया है तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई.

वहीं इस मामले की जांच कर रहे डाक विभाग के इंस्पेक्टर देवराज पांगती ने बताया कि सभी खाताधारकों की पासबुक की जांच की जा रही है. फिलहाल कितना पैसा गबन किया गया है, ये जांच के बाद ही साफ हो पाएगा. डाक विभाग के एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त में न्यूज़18 को बताया कि पोस्टमैन ने सारा पैसा ठेकेदारी के काम में लगाया हुआ है. एक विभाग से जल्द से जल्द पेमेंट करने की गुजारिश की गई है, जिससे कुछ लोगों का पैसा लौटाया जा सके. इन्हीं अधिकारी ने बताया कि कुछ पासबुक पोस्टमैन ने अपने स्तर से भी जारी की हुई हैं, जिनका कोई रिकॉर्ड पोस्ट ऑफिस में दर्ज नहीं है. मामला 25 से 30 लाख का हो सकता है.

फिलहाल विभाग जांच के बाद क्या कार्रवाई करता है देखना दिलचस्प रहेगा. इससे कुछ दिन पहले ही बागेश्वर के काफलीगैर पोस्ट ऑफिस में भी गबन का एक मामला सामने आया था. विभाग द्वारा इस मामले में भी जांच बिठाई गई थी और बाद में पूरा मामला सेटल कर दिया गया था. पहाड़ के सीधे-साधे लोगों की गाढ़ी कमाई कब तक पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी डकारते रहेंगे और बिना किसी सजा के पैसे लौटने के नाम पर बचकर निकल जाएंगे. इससे सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं.

Tags: Bageshwar News, Post Office, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर