लाइव टीवी

रावत ने वर्षा प्रभावित इलाकों के लिए मांगे पांच सौ करोड़ रुपए 

Bhasha
Updated: July 26, 2016, 11:58 PM IST
रावत ने वर्षा प्रभावित इलाकों के लिए मांगे पांच सौ करोड़ रुपए 
file photo

राज्य के विभिन्न हिस्से में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण हुई व्यापक क्षति को देखते हुए उत्तराखंड की सरकार ने केंद्र से आज 500 करोड़ रुपए की मांग की. इसके अलावा कम से कम 350 गांवों को सुरक्षित स्थानों पर पुनर्वास करने के लिए अलग से धन और संसाधनों की मांग की है.

  • Bhasha
  • Last Updated: July 26, 2016, 11:58 PM IST
  • Share this:
राज्य के विभिन्न हिस्से में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण हुई व्यापक क्षति को देखते हुए उत्तराखंड की सरकार ने केंद्र से आज 500 करोड़ रुपए की मांग की. इसके अलावा कम से कम 350 गांवों को सुरक्षित स्थानों पर पुनर्वास करने के लिए अलग से धन और संसाधनों की मांग की है.

एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया कि मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के दौरान ये मांग रखी.

हाल की बारिश से हुई क्षति का ब्यौरा प्रधानमंत्री के समक्ष पेश करते हुए रावत ने कहा कि इस बारिश में राज्य को एक हजार करोड़ रूपये की क्षति हुई है जो सितम्बर के अंत तक बढ़कर 1500 करोड़ रुपए हो सकती है.

उन्होंने कहा कि पिथौरागढ़, उत्तरकाशी और चमोली जिले में अमूल्य मानवीय जीवन के नुकसान के अलावा संपत्ति और ढांचागत सुविधाओं को भी काफी क्षति पहुंची है.

राज्य सरकार के पास सीमित संसाधनों का हवाला देते हुए उन्होंने प्रभावित इलाकों में जनजीवन को पटरी पर लाने के लिए मोदी से तुरंत 500 करोड़ रुपए की सहायता की मांग की.

आपदा प्रभावित जिलों में सैकड़ों गांवों के पुनर्वास के मुद्दे को उठाते हुए रावत ने कहा कि भूस्खलन संभावित क्षेत्र में करीब 350 गांव हैं.

उन्होंने कहा कि इस कार्य को पूरा करने के लिये वृहद् प्रयास किए जाने की जरूरत है जिसमें दस हजार करोड़ रूपये खर्च होंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बागेश्‍वर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 26, 2016, 11:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर