लाइव टीवी

क्या ये गिरती गंदगी गंगा को होने देगी स्वच्छ?
Bageshwar News in Hindi

ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 16, 2016, 9:11 PM IST
क्या ये गिरती गंदगी गंगा को होने देगी स्वच्छ?
ETV/Pradesh18

गंगा की स्वच्छता को लेकर केंद्र सरकार 4 हज़ार करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है लेकिन गंगा साफ़ होने के बजाय और मैली होती जा रही है. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण गंगा में जगह जगह गिरने वाला सीवर और गंदे नाले हैं. स्थानीय प्रशासन आज तक इन नालों की टेपिंग का काम नहीं कर पाया है.

  • Share this:
गंगा की स्वच्छता को लेकर केंद्र सरकार 4 हज़ार करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है लेकिन गंगा साफ़ होने के बजाय और मैली होती जा रही है. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण गंगा में जगह जगह गिरने वाला सीवर और गंदे नाले हैं. स्थानीय प्रशासन आज तक इन नालों की टेपिंग का काम नहीं कर पाया है.

गंगा पर लंबे समय से शोध कर रहे प्रो बीडी जोशी का कहना है कि गंगा सबसे ज़्यादा सीवरेज, औद्योगिक वेस्ट, फर्टीलाइजर और गंगा का दुरूपयोग करना. जोशी कहते हैं कि भारत में नदियां 75 प्रतिशत सीवरेज से प्रदूषित होती हैं. इसको ध्यान में रखकर यदि योजना बनाएं तो गंगा साफ़ हो सकती है. आज गंगा में प्रदूषित पानी जाने से कैंसर बढ़ रहा है.

अकेले हरिद्वार में गंगा में 56 जगह नाले और सीवर गंगा में शीशे गिर रहे हैं. ऐसा नहीं की गंगा को सबसे ज़्यादा प्रदूषित करने वाले नाले और सीवर स्थानीय प्रशासन या जिम्मेदार विभाग को नज़र नहीं आते, लेकिन इसके बावजूद प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं हैं. स्थानीय लोग भी इसके लिए प्रशासन को जिम्मेदार मानते हैं. आलम ये है कि गंगा में गिरने वाले नालों से गातीं और गंगा में कीड़े और गंदगी गिर रही है. स्थानीय लोग भी लोगों के जागरूक होने की बात करते हैं.

वहीं गंगा सभा के अध्यक्ष पुरषोत्तम शर्मा गांधीवादी का कहना है कि सर्कार को निगम, ग्राम पंचायत को शक्ति प्रदान करनी चाहिए. क्योंकि यही सख्ती कर सकते हैं इसके साथ ही ट्रीटमेंट प्लांट को गंगा के किनारे स्थापित करने के बजाय गंगा से दूर स्थापित किया जाना चाहिए.



वहीँ नमामि गंगे परियोजना के माध्यम से अब केंद्र सरकार गंगा को 2020 तक पूरी तरह से स्वच्छ करने की बात कर रही है. वे कहती हैं कि अबतक लगे 4 हज़ार करोड़ में 7 हज़ार करोड़ मिलाकर गंगा को स्वच्छ करेंगी. वे मानती हैं कि गंगा को साफ करने के लिए जनसहभागिता ज़रूरी है और वे इसके लिए लोगों को जागरूक करेंगी. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्रियल केमिकल से गंगा सबसे ज़्यादा मैली हो रही है इसके लिए कब सख्त कानून बनाने की तैयारी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बागेश्‍वर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2016, 9:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर