Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022: बागेश्वर में पहली बार महिला दावेदारों ने ठोकी ताल

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022: बागेश्वर में पहली बार महिला दावेदारों ने ठोकी ताल

उत्तराखंड बागेश्वर विधानसभा सीट से इस बार बीजेपी और कांग्रेस से महिलाओं ने टिकट के लिए दावेदारी की है.

उत्तराखंड बागेश्वर विधानसभा सीट से इस बार बीजेपी और कांग्रेस से महिलाओं ने टिकट के लिए दावेदारी की है.

Uttarakhand Assembly Election 2022: विधानसभा चुनाव को लेकर जिले में धीरे-धीरे चुनावी रंग चढ़ने लगा है. राजनीतिक दल चुनावी तैयारी में जुट गए हैं. टिकट के दावेदारों के बीच रस्साकसी तेज होने लगी है. भाजपा कांग्रेस दोनों में इसको लेकर विशेष सरगर्मी है. जिले में पहली बार महिला दावेदार भी खुलकर सामने आईं हैं. बागेश्वर सीट पर कांग्रेस से महिला सेवादल की जिलाध्यक्ष सुनीता टम्टा, भाजपा से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दीपा आर्या और सविता नगरकोटी ने दावेदारी की है.

अधिक पढ़ें ...

    बागेश्वर. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election) को लेकर जिले में धीरे-धीरे चुनावी रंग चढ़ने लगा है. जैसे-जैसे मौसम में ठंड बढ़ती जा रही है, वैसे ही वैसे जिले में चुनावी गर्मी बढ़ने लगी है. एक तरफ राजनीतिक दलों की जनता के बीच गतिविधियां बढ़ गई हैं तो दूसरी तरफ टिकट के दावेदारों के बीच रस्साकसी तेज होती भी दिखने लगी है. भाजपा और कांग्रेस दोनों में इसको लेकर विशेष सरगर्मी है. जिले में पहली बार महिला दावेदार भी खुलकर सामने आईं हैं.

    ये महिला दावेदार टिकट को लेकर न केवल पार्टी में अपना समीकरण बैठाने मे जुटे हैं, बल्कि पोस्टर-बैनर और इंटरनेट मीडिया के माध्यम से क्षेत्र में भी अपना माहौल बना रहे हैं. बागेश्वर सीट पर इस बार कांग्रेस से महिला सेवादल की जिलाध्यक्ष सुनीता टम्टा ने दावेदारी पेश की है. सुनीता का कहना है कि महिलाओं की आधी आबादी है. इस बार पार्टी को महिला को टिकट देना चाहिए.

    भाजपा से इस बार पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दीपा आर्या भी दावेदारी कर रही हैं. वहीं कपकोट विधानसभा से भाजपा जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष सविता नगरकोटी ने भी टिकट की दावेदारी जतायी है. सविता का कहना है कि आधी आबादी की समस्याओं को न केवल समझेंगी, बल्कि नीतियों और योजनाओं में उनका हल तलाशने के मार्ग भी सुझाएंगी.

    सविता आगे कहती हैं कि देश के प्रधानमंत्री मोदी कई बार कह चुके हैं कि भारत ‘महिला विकास’ से ‘महिला के नेतृत्व में विकास’ की तरफ आगे बढ़ रहा है. जिस पार्टी में महिलाओं का इतना सम्मान हो तो वो कैसे नहीं महिलाओं को टिकट देगी. इसलिए उन्हें पूरा भोरसा है कि कपकोट विधानसभा से उन्हें बीजेपी से टिकट मिलना तय है.

    बागेश्वर सीट से 1969 और वर्ष 1974 में सरस्वती टम्टा विधायक रहीं थीं. सरस्वती टम्टा कुमाऊं की पहली महिला विधायक थीं. बागेश्वर सुरक्षित सीट से वह दो बार विधायक रहीं, फिलहाल राज्य बनने के बाद जिले में किसी भी दल ने महिला प्रत्याशी पर दांव नहीं खेला.

    Tags: Bageshwar Assembly Seat, Bageshwar News, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर