Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand News: CM धामी ने लिया PRO के खिलाफ सख्त एक्शन, अब कांग्रेस मुद्दा उठाने की तैयारी में

Uttarakhand News: CM धामी ने लिया PRO के खिलाफ सख्त एक्शन, अब कांग्रेस मुद्दा उठाने की तैयारी में

सीएम धामी ने पीआरओ नंदन बिष्ट के खिलाफ एक्शन लिया.

सीएम धामी ने पीआरओ नंदन बिष्ट के खिलाफ एक्शन लिया.

उत्तराखंड से बड़ी खबर है कि मुख्यमंत्री के एक OSD की चिट्ठी इस तरह वायरल हुई है कि बात अधिकारियों को हटाने तक पहुंच गई. इस पूरे मामले के बारे में तमाम डिटेल्स तो यहां जानिए ही, साथ ही ये भी कि अब विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार (Dhami Government) को किस तरह घेरने की कोशिश शुरू कर चुका है. जानकार मान रहे हैं कि उत्तराखंड विधानसभा सत्र (Assembly Session) के दौरान इस तरह के घटनाक्रम को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता बल्कि कांग्रेस सदन में मुद्दा उठा सकती है. उत्तराखंड चुनाव (Uttarakhand Election) से पहले राज्य सरकार के लिहाज़ से संवेदनशील मामले को ठीक से समझिए.

अधिक पढ़ें ...

    दीपांकर भट्ट/सुष्मिता थापा
    बागेश्वर/देहरादून. मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के एक पीआरओ को हटा दिए जाने की खबर शनिवार को आई. असल में यह मामला एक पत्र से जुड़ा हुआ है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. इस पत्र में पीआरओ ने बागेश्वर एसपी से उन तीन ट्रकों पर की गई कार्रवाई निरस्त करने को कहा था, जिनका चालान काटा गया था. खड़िया से भरे तीन ट्रकों को छोड़ने के लिए कहने वाले इस पत्र के विवाद के बाद जानकारी के अनुसार संबंधित पीआरओ को हटा दिया गया है और मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. वहीं, सदन में यह मुद्दा उठ सकता है. बताया जा रहा है कि तीनों गाड़ियों के चालान यातायात निरीक्षक शिवराज सिंह बिष्ट ने दयांगण आरे बाइपास पर किए, फिलहाल यातायात निरीक्षक के पद से पुलिस लाइन भेज दिया गया है.

    दरअसल, मुख्यमंत्री के जनसंपर्क अधिकारी नंदन सिंह बिष्ट का बीते 8 दिसंबर को बागेश्वर पुलिस अधीक्षक को लिखा पत्र इंटरनेट पर वायरल हो गया. पत्र में तीन वाहनों के चालान निरस्त करने का आदेश दिया गया था. बिष्ट ने तीन वाहनों के नंबर पत्र में लिखकर कहा था कि इन पर की गई चालान कार्रवाई को निरस्त कर दिया जाए. इस पत्र की कॉपी न्यूज़18 के पास आई है, जो बिष्ट के हस्ताक्षर के साथ उनके लेटरहैड पर लिखा गया, हालांकि न्यूज़18 इस पत्र की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है. अब इस मामले में राजनीति भी शुरू हो चुकी है और सोशल मीडिया पर कई तरह की चर्चाएं भी.

    uttarakhand chief minister, pushkar dhami vivad, viral news, viral letter, viral photo, viral post, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, पुष्कर धामी विवाद, वायरल न्यूज़, वायरल पोस्ट, वायरल फोटो, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, Uttarakhand Latest news, उत्तराखंड ताजा समाचार, bageshwar news, dehradun news, बागेश्वर समाचार, देहरादून समाचार

    पीआरओ का यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल रहा, जिसके सत्यापन संबंधी जांच करवाई जा रही है.

    कांग्रेस उठाएगी सदन में मुद्दा!
    देहरादून से खबर है कि विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन कांग्रेस इस मुद्दे पर सरकार को घेर सकती है. न्यूज़18 संवाददाता दीपांकर भट्ट के मुताबिक खनन के मामले में ट्रकों पर कार्रवाई की गई थी, जिसके संबंध में बिष्ट ने यह पत्र लिखा था. कांग्रेस ने कल भी यह मुद्दा उठाया था और आज भी बैठक के बाद इस मुद्दे को कांग्रेस सदन में उठाने की तैयारी कर रही है.

    जांच के बाद सामने आएगा पत्र का सच
    उत्तराखंड शासन ने इस पत्र की प्रामाणिकता को लेकर जांच के आदेश दिए हैं. इस पत्र में तीन वाहनों के नंबरों का उल्लेख बिष्ट ने किया था, जिन्हें कथित तौर पर एक भारतीय जनता युवा मोर्चा नेता का बताया जा रहा है. ऐसे में जबकि विधानसभा का सत्र चल रहा है, तब सदन के उपनेता करन महारा ने आरोप लगाया है कि चालान किए गए ट्रक भाजयुमो नेता के हैं. यह भी कहा जा रहा है कि चालान ओवरलोडिंग के चलते किए गए.

    इधर, पुलिस का कहना है कि एक बार चालान कटने के बाद निरस्त नहीं किया जा सकता. पुलिस ने बताया कि चालानों को संभागीय परिवहन अधिकारी को भेज दिया गया है. यह भी जानकारी मिली है कि तीनों गाड़ियों के चालान वाहन स्वामी द्वारा जमा कर दिए गए हैं. लेकिन इस मामले में राजनीतिक विवाद तूल पकड़ सकता है. कांग्रेस नेता व पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने कहा कि सरकार द्वारा ईमानदार अधिकारियों पर दबाव बनाया जा रहा है.

    Tags: Bageshwar News, Pushkar Singh Dhami, Uttarakhand Government, Uttarakhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर