Cartoon: नेताओं का विकास देखने के लिए दिव्य दृष्टि चाहिए

राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप के साथ-साथ दावों का खेल चलता रहता है. सियासतदां अक्सर अपनी राजनीति चमकाने के लिए विकास अपने क्षेत्र के विकास करने का दंभ भरते हैं. वो दावा करते हैं कि उनके कार्यकाल में क्षेत्र का सर्वाधिक विकास हुआ.

Pradesh18
Updated: September 3, 2016, 3:31 PM IST
Cartoon: नेताओं का विकास देखने के लिए दिव्य दृष्टि चाहिए
राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप के साथ-साथ दावों का खेल चलता रहता है. सियासतदां अक्सर अपनी राजनीति चमकाने के लिए विकास अपने क्षेत्र के विकास करने का दंभ भरते हैं. वो दावा करते हैं कि उनके कार्यकाल में क्षेत्र का सर्वाधिक विकास हुआ.
Pradesh18
Updated: September 3, 2016, 3:31 PM IST
राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप के साथ-साथ दावों का खेल चलता रहता है. सियासतदां अक्सर अपनी राजनीति चमकाने के लिए विकास अपने क्षेत्र के विकास करने का दंभ भरते हैं. वो दावा करते हैं कि उनके कार्यकाल में क्षेत्र का सर्वाधिक विकास हुआ.

परिस्थिती ऐसी बनी हुई है कि अधिकांश नेताओं के विकास कार्य के दावे खोखले निकलते हैं. ऐसे में तो सियासतदां यही कहेंगे कि हमारा विकास देखने के लिए दिव्य दृष्टि चाहिए. आपकी इन आंखों से नजर नहीं आएगा.
First published: September 3, 2016, 12:11 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...