• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • 3 युगों तक यहीं रहे थे भगवान विष्णु, कलयुग शुरू होते ही चले गए थे बद्रीनाथ धाम

3 युगों तक यहीं रहे थे भगवान विष्णु, कलयुग शुरू होते ही चले गए थे बद्रीनाथ धाम

आदिबद्री

आदिबद्री में भगवान नारायण का मुख्य मंदिर.

वर्तमान में यहां भगवान विष्णु के मुख्य मंदिर के अलावा 13 और मंदिर हैं.

  • Share this:

    उत्तराखंड के पंच बद्री धामों में से एक आदिबद्री मंदिर चमोली जिले में स्थित एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है. यह मंदिर रानीखेत मार्ग पर कर्णप्रयाग से करीब 17 किलोमीटर दूर है. माना जाता है कि बद्रीनाथ से पहले यहीं पर भगवान विष्णु की पूजा की जाती थी. भगवान विष्णु प्रथम तीन युगों सतयुग, द्वापर युग और त्रेतायुग तक आदिबद्री मंदिर में ही रहे और कलयुग में वह बद्रीनाथ मंदिर चले गए.

    वर्तमान में यहां भगवान विष्णु के मुख्य मंदिर के अलावा 13 और मंदिर हैं. भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण के अनुसार, यहां पहले कुल 16 मंदिर हुआ करते थे लेकिन दो मंदिर नष्ट हो गए. माना जाता है कि इन मंदिरों का निर्माण स्वर्ग जाते समय पांडवों ने किया था.

    कुछ मान्यताओं के अनुसार, आदि गुरू शंकराचार्य ने इन मंदिरों का निर्माण 8वीं सदी में किया था, जबकि भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण विभाग का मानना है कि आदिबद्री मंदिर समूह का निर्माण 8वीं से 11वीं सदी के बीच कत्यूरी वंश के राजाओं ने करवाया था.

    अगर मंदिर की वास्तुकला की बात करें तो यहां मंदिर पिरामिड शंकु आकार के हैं, जो काफी हद तक गढ़वाल के अन्य मंदिरों से संरचना में अलग दिखाई देते हैं. मुख्य मंदिर काफी बड़ा है, जहां भगवान विष्णु की प्रतिमा काली शिला पर है और वह दर्शन मुद्रा में खड़े हैं.

    यहां भगवान विष्णु की 3 फीट ऊंची मूर्ति की पूजा की जाती है. वहीं मुख्य मंदिर के ठीक सामने श्रीहरि के वाहन गरुड़ का मंदिर है. इसके अलावा यहां भगवान सत्यनारायण, लक्ष्मी नारायण, भगवान राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान, मां गौरी, मां काली, मां अन्नपूर्णा, चक्रभान, भगवान भोलेनाथ और कुबेर के मंदिर भी स्थित हैं. हालांकि कुबेर के मंदिर में उनकी प्रतिमा नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज