बदरीनाथ हाईवे में बस के ऊपर गिरा बोल्डर, 6 घायल, लगातार होते भूस्खलन के बीच 7 बस में फंसे

उत्तराखंड में बद्रीनाथ हाईवे पर बड़ा हादसा हो गया. दरअसल बद्रीनाथ हाईवे पर लामबगड़ स्लाइड जोन में आज एक बोल्डर बस पर गिर गया, जिससे पांच यात्रियों की मौत हो गई, जबकि कई लोग फंस गए.

Prabhat Purohit | News18 Uttarakhand
Updated: August 6, 2019, 1:26 PM IST
बदरीनाथ हाईवे में बस के ऊपर गिरा बोल्डर, 6 घायल, लगातार होते भूस्खलन के बीच 7 बस में फंसे
हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस और एसडीआरएफ़ की टीम मौके पर पहुंची और घायलों और बस के अंदर फंसे यात्रियों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया.
Prabhat Purohit
Prabhat Purohit | News18 Uttarakhand
Updated: August 6, 2019, 1:26 PM IST
बदरीनाथ हाईवे में लैंड स्लाइड ज़ोन लामबगड़ में एक यात्री बस के ऊपर भारी बोल्डर और मलबा गिर गया. इस हादसे में छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. बताया जा रहा है कि सात लोग अब भी बस के अंदर ही फंसे हुए हैं जिन्हें निकालने की कोशिशें जारी हैं. कभी भी भूस्खलन होने की आशंका के चलते बचाव कार्य में दिक्कत आ रही है और खतरा अभी बना हुआ है. शुरुआती सूचना 5 लोगों के मरने की आ रही थी लेकिन एसडीआरएफ़ ने इसका खंडन किया है और कहा है कि अभी तक किसी की मौत नहीं हुई है.

रुक-रुककर भूस्खलन जारी 

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक बस सुबह बदरीनाथ से ऋषिकेश के लिए चली थी कि लामबगड़ के पास पहाड़ी से आए भारी बोल्डर और मलबे की चपेट में आ गई. घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय लोगों और गोबिन्दघाट पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छह लोगों को बस से निकालकर अस्पताल पहुंचाया.

एसडीआरएफ और पुलिस, स्थानीय लोगों की मदद बस के अंदर फंसे अन्य लोगों को निकालने की कोशिश कर रही है लेकिन पहाड़ी से रुक-रुककर भूस्खलन होने की वजह से रेस्क्यू टीम को बचाव कार्य  में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

ज़िला प्रशासन का कहना है कि बस के अंदर फंसे लोगों को निकालने के लिए एसडीआरएफ के साथ ही एनडीआरएफ और प्रशासन की टीम जुटी हुई है. हालांकि भूस्खलन के खतरे को देखते हुए खतरा अब भी बना हुआ है.

यह भी पढ़ें: 

टिहरी गढ़वाल में खाई में गिरी स्‍कूल बस, 9 बच्चों की मौत, 4 गंभीर 
Loading...

डंपर से कुचलकर छात्रा की मौत, भीड़ ने पुलिस हिरासत में ही चालक को पीटा 
First published: August 6, 2019, 10:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...