Home /News /uttarakhand /

char dham yatra big update 500 kms route to badrinath upgrading but gangotri yamunotri highway in bad condition

Char Dham Yatra 2022: बद्रीनाथ तक 500km रूट हो रहा खुशहाल, तो गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे खस्ताहाल

उत्तरकाशी में धामों के हाईवे की हालत बदतर हो गई है, तो चमोली में बद्री धाम के मार्ग का कायाकल्प हो रहा है.

उत्तरकाशी में धामों के हाईवे की हालत बदतर हो गई है, तो चमोली में बद्री धाम के मार्ग का कायाकल्प हो रहा है.

Uttarakhand Pilgrimage : चारधाम यात्रा शुरू होते ही देश विदेश के तीर्थयात्री गंगोत्री, यमुनोत्री धाम (Gangoti & Yamunotri) में पहुचेंगे, लेकिन हालात कह रहे हैं कि इन दो धामों के हाईवे पर सफर करना चुनौतीपूर्ण रहने वाला है. मई में चार धाम की यात्रा शुरू (Char Dham Yatra Starting) हो जाएगी इसलिए उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) तैयारियों में जुट चुकी है. इस बार चारों धाम यात्रा में यात्रियों को कोई दिक्कत न हो, इसका विशेष ख्याल रखने की हिदायतें हैं. ऋषिकेश से लेकर बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग (Badrinath National Highway) चारों धाम प्रोजेक्ट को अप्रैल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.

अधिक पढ़ें ...

नितिन सेमवाल/बलबीर परमार
जोशीमठ/उत्तरकाशी. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा अगले महीने से शुरू होने जा रही है, जिसके लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां ज़ोरों पर चल रही हैं. चूंकि Covid-19 संक्रमण के चलते पिछले दो साल यह यात्रा बाधित रही इसलिए इस साल इसे लेकर बड़ी उम्मीदें हैं. श्रद्धालुओं की सुविधाओं के मद्देनज़र सबसे ज़्यादा फोकस यात्रा मार्गों पर है. ऋषिकेश से लेकर बद्रीनाथ धाम (RIshikesh to Badrinath) तक 500 किलोमीटर के रास्ते का कायाकल्प करने का काम तेज़ है, तो दूसरी तरफ यमुनोत्री धाम तक पहुंचने वाला खस्ताहाल बना हुआ है. स्थानीय लोग, श्रद्धालु और ज़िले के सर्वोच्च अधिकारी तक इसकी हालत से नाराज़ दिख रहे हैं.

उत्तरकाशी में चारधाम यात्रा को शुरू होने में एक माह से भी कम समय रह गया है लेकिन यमुनोत्री और गंगोत्री हाईवे की हालत ऑल वेदर रोड (All Weather Road) के काम की वजह से कई जगह खस्ताहाल बनी हुई है. चारधाम के पहले पड़ाव तक जाने वाले यमुनोत्री हाईवे की हालत बदतर हो गई है. रास्ते पर धूल और गड्डे आए दिन हादसों को न्यौता दे रहे हैं. आलम यह है कि आगामी 12 अप्रैल तक पहाड़ी कटान के लिए हाईवे पर 5 घंटे आवाजाही पर रोक लगाई गई है. ये ही हाल यमुनोत्री हाईवे पर बड़कोट से धरासू के बीच हैं, जिससे स्थानीय लोगों मे भी नाराज़गी है.

ठेकेदारों की लापरवाही से बदहाल से हाईवे!
लोगों का कहना है​ कि बड़कोट में यमुनोत्री हाईवे पर कार्यदायी संस्था की लापरवाही के चलते हाईवे आज भी खस्ताहाल बना हुआ है. इधर प्रशासनिक स्तर पर बैठकों का दौर जारी है. डीएम मयूर दीक्षित ने गंगोत्री यमुनोत्री धाम की यात्रा को लेकर अधिकारियों को 15 अप्रैल तक हर हाल व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने एनएच, बीआरओ व लोक निर्माण विभाग को गड्ढे मुक्त सड़क बनाने और पैदल मार्ग समेत पूरे रूट पर सफाई व्यवस्था ठीक करने को कहा है.

डबल लाइन हो रहा है रूट
इस साल बद्रीनाथ धाम यात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने की उम्मीद है, जिसको लेकर प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. ऋषिकेश से लेकर बद्रीनाथ धाम तक लगभग 500 किलोमीटर तक सड़क को डबल लाइन बनाया जा रहा है. कई जगहों पर सड़क कटिंग का काम चल रहा है, तो सड़कों पर डामरीकरण का काम भी तेज़ है. उप ज़िला अधिकारी कुमकुम जोशी ने पुष्टि करते हुए उम्मीद जताई कि इस बार यात्रा रिकॉर्ड तोड़ हो सकती है. यही उम्मी स्थानीय लोगों को भी है.

गौरतलब है कि चारों धाम की यात्रा पर उत्तराखंड का तीर्थाटन व्यवसाय निर्भर करता है. साथ ही यात्रा से उत्तराखंड की आर्थिकी में भी सुधार होगा, जो कोरोना के समय समाप्त हो गया था. ऐसे में अप्रैल माह तक यात्रा व्यवस्थाओं को स्थानीय प्रशासन कितने हद तक ठीक कर पाता है, यह तस्वीर कुछ ही दिनों में सामने आ जाएगी.

Tags: Char Dham Highway Project, Char Dham Yatra, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर