Home /News /uttarakhand /

केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने के लिए डीजीसीए से मिलेंगे मुख्य सचिव

केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने के लिए डीजीसीए से मिलेंगे मुख्य सचिव

केदारनाथ यात्रा शुरू होने के बाद उत्तराखंड का उड्डयन महकमा हैली सर्विस शुरू करने  के लिए हरकत में आया है. एनजीटी के दिशानिर्देशों पर खरा न उतर पाने के चलते प्राइवेट चॉपर उड़ान नहीं भर पाए हैं. जिसके मद्देनजर मुख्य सचिव ने आपरेटरों के साथ मीटिंग करने के बाद खुद दिल्ली में डीजीसीए से मिलने का फैसला लिया है.

केदारनाथ यात्रा शुरू होने के बाद उत्तराखंड का उड्डयन महकमा हैली सर्विस शुरू करने के लिए हरकत में आया है. एनजीटी के दिशानिर्देशों पर खरा न उतर पाने के चलते प्राइवेट चॉपर उड़ान नहीं भर पाए हैं. जिसके मद्देनजर मुख्य सचिव ने आपरेटरों के साथ मीटिंग करने के बाद खुद दिल्ली में डीजीसीए से मिलने का फैसला लिया है.

केदारनाथ यात्रा शुरू होने के बाद उत्तराखंड का उड्डयन महकमा हैली सर्विस शुरू करने के लिए हरकत में आया है. एनजीटी के दिशानिर्देशों पर खरा न उतर पाने के चलते प्राइवेट चॉपर उड़ान नहीं भर पाए हैं. जिसके मद्देनजर मुख्य सचिव ने आपरेटरों के साथ मीटिंग करने के बाद खुद दिल्ली में डीजीसीए से मिलने का फैसला लिया है.

अधिक पढ़ें ...
    केदारनाथ यात्रा शुरू होने के बाद उत्तराखंड का उड्डयन महकमा हैली सर्विस शुरू करने के लिए हरकत में आया है. एनजीटी के दिशानिर्देशों पर खरा न उतर पाने के चलते प्राइवेट चॉपर उड़ान नहीं भर पाए हैं. जिसके मद्देनजर मुख्य सचिव ने आपरेटरों के साथ मीटिंग करने के बाद खुद दिल्ली में डीजीसीए से मिलने का फैसला लिया है.

    केदारनाथ धाम के कपाट तो खुल गए हैं, लेकिन अभी तक हेलीकाप्टर सर्विस शुरू नहीं हो पाई है. वजह ये है कि प्राइवेट आपरेटर वाइल्ड लाइफ से जुड़े मानकों पर खरे नहीं उतर पा रहे हैं.
    जिसके तहत उड़ान भरते वक्त हेलीकाप्टर की वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के उपर तयशुदा ऊंचाई और आवाज होनी चाहिए.

    केदारनाथ यात्रा शुरू होने के बाद सूबे का नागरिक उड्डयन विभाग जागा है. इस कड़ी में मुख्य सचिव रामा स्वामी ने नीजि हेलीकाप्टर सर्विस ऑपरेटरों के साथ सचिवालय में बैठक की है. आपको बता दें कि खुद मुख्य सचिव के पास इस विभाग का जिम्मा है.

    रामास्वामी का कहना है कि वह खुद 5 मई को दिल्ली में डीजीसीए से वार्ता करके राज्य का पक्ष रखेंगे. ताकि जल्द से जल्द श्रद्धालुओं के लिए हैली सर्विस शुरू हो सके.

    सूबे के चीफ वाईल्ड लाइफ वार्डन डीएस. खाती का कहना है कि आपरेटरों के साथ बैठक में मानकों को पूरा करने पर सहमति बनी है.

    आपको बता दें कि किसी एक संगठन ने 2015 में एनजीटी यानि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण में शिकायत की थी, जिसमें प्राईवेट चॉपर्स के केदारघाटी में बहुत नीचे उडान भरने और तेज आवाज से वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के जानवरों को दिक्कतें होने की बात का जिक्र था. जिसके बाद सरकार ने वाइल्ड लाइफ इंस्टीटयूट से मामले पर रिपोर्ट मांगी थी.

    हाल में डीजीसीए ने यानि केंद्र के नागरिक उड्डयन महानिदेशक ने सूबे के नागरिक उड्डयन विभाग को मानकों के तहत उड़ान भरने की बाबत खत लिखा, जिसका नतीजा ये रहा कि केदारनाथ के कपाट खुल गए, लेकिन अभी तक हेली सर्विस शुरू नहीं हो पाई है.

    Tags: Uttarakhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर