Home /News /uttarakhand /

औली में स्कीइंग प्रतियोगिता होना मुश्किल...  ढलानों पर नहीं टिक रही बर्फ़

औली में स्कीइंग प्रतियोगिता होना मुश्किल...  ढलानों पर नहीं टिक रही बर्फ़

स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए स्नो मेकिंग गन के ज़रिए औली की पहाड़ियों की ढलान पर कृत्रिम बर्फ़ तैयार की जा रही है.

स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए स्नो मेकिंग गन के ज़रिए औली की पहाड़ियों की ढलान पर कृत्रिम बर्फ़ तैयार की जा रही है.

स्नो मेकिंग गनों से जो कृत्रिम बर्फ तैयार की जा रही है वह भी पर्याप्त ठंड के अभाव में जल्द पिघल रही है.

विश्व प्रसिद्द हिम क्रीड़ास्थल औली में होने वाली नेशनल जूनियर स्कीइंग प्रतियोगिता के इस बार भी तय समय पर होने के आसार कम ही नजर आ रहे है. औली की ढलानों पर कम बर्फ़वारी के चलते पिछले साल भी स्कीइंग प्रतियोगिता रद्द हो गई थी. इस बार भी अभी तक यहां प्राकृतिक बर्फ़वारी उस मात्रा में नहीं हो पाई है जिससे समय पर गेम्स हो सकें.

औली में 10, 11 और 12 जनवरी को नेशनल जूनियर स्कीइंग प्रतियोगिता करवाने का प्रस्ताव है हालांकि प्रशासन का कहना है कि अभी यह तारीख फ़ाइनल नहीं है. चमोली की ज़िलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया के अनुसार शासन में बैठक के बाद ही नेशनल जूनियर स्कीइंग प्रतियोगिता की तारीख तय हो पाएगी.

स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए स्नो मेकिंग गन के ज़रिए औली की पहाड़ियों की ढलान पर कृत्रिम बर्फ़ तैयार की जा रही है. लेकिन यह कृत्रिम बर्फ़ स्कीइंग के लिए पर्याप्त नहीं होती. चूंकि स्कीइंग के लिए बर्फ़ की मोटी परत चाहिए होती है इसलिए जब तक प्राकृतिक रूप से अच्छी बर्फ़ नहीं जम जाती तब तक यह कृत्रिम बर्फ़ भी किसी काम की नहीं है.

दिक्कत यह भी है कि स्नो मेकिंग गनों से जो कृत्रिम बर्फ तैयार की जा रही है वह भी पर्याप्त ठंड के अभाव में जल्द पिघल रही है. हालांकि ज़िलाधिकारी का कहना है कि औली में आने वाले खिलाड़ियों और पर्यटकों के ठहरने और प्रतियोगिता की अन्य व्यवस्थाएं की उसकी तैयारी पूरी है, शासन जब भी तय करेगा आयोजन हो जाएगा.

VIDEO : इस स्नोफॉल का मज़ा ही कुछ और है

औली में बर्फबारी न होने से बढ़ी BJP सरकार की चिंता 

Tags: Heavy snowfall, Uttarakhand news, Winter Olympics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर