लाइव टीवी

बदरीनाथ धाम: जब अपने ही भोग के लिए 2 घंटे इंतजार करते रहे भगवान

Prabhat Purohit | News18 Uttarakhand
Updated: May 24, 2019, 4:13 PM IST
बदरीनाथ धाम: जब अपने ही भोग के लिए 2 घंटे इंतजार करते रहे भगवान
बदरीनाथ धाम (फ़ाइल फ़ोटो)

दरअसल एसडीएम के बीकेटीसी सीईओ की कुर्सीी पर बैठने को मंदिर समिति के कार्य में अनावश्यक हस्तक्षेप बताते हुए मंदिर समिति कर्मचारी धरने पर बैठ गए थे.

  • Share this:
badrinath portals opening 2019 (2)
कुर्सी की लड़ाई के चक्कर में गुरुवार को भगवान बदरी विशाल को लगने वाला भोग न सिर्फ दो घन्टे देरी से लगा बल्कि यात्रियों को भी इस दौरान भगवान के दर्शन नहीं हो पाए.


badrinath hungama 2
बदरीनाथ में गुरुवार को जो हुआ, वह पहले कभी नहीं हुआ था. जोशीमठ के एसडीएम वैभव गुप्ता बदरीनाथ धाम में गुजरात धर्मशाले स्थित सीईओ के कक्ष में पहुंचे और उनकी कुर्सी पर बैठ गए. इतना ही नहीं, एसडीएम ने सीईओ से मंदिर से जुड़ी पत्रावलियां भी तलब कीं, जिस पर सीईओ ने आपत्ति जताई. इस पर दोनों में तीखी बहस हुई.


badrinath hungama 4
मामले की सूचना मिलते ही मंदिर समिति के कर्मचारी व आचार्य ब्राह्मण मौके पर पहुंचे. उन्होंने एसडीएम को मंदिर समिति के कार्य में अनावश्यक हस्तक्षेप बताते हुए इसे ग़ैर ज़रूरी बताया और गुजरात भवन के सभागार में ही धरने पर बैठ गए.


बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने इस संबंध में ज़िलाधिकारी से बात की. मामला बढ़ता देख एसडीएम ने लिखित खेद जताया तब जाकर मामला शांत हुआ. सीईओ बीडी सिंह ने एसडीएम के अपनी कुर्सी पर बैठने और पत्रावली तलब करने को गलत बताया.


badrinath hungama 5
कुर्सी की इस लड़ाई में भगवान बदरी विशाल को लगने वाला भोग न सिर्फ दो घन्टे देरी से लगा बल्कि यात्रियों को भी इस दौरान दर्शन नहीं हो पाए. क्योंकि मंदिर समिति कर्मचारियों के न होने से मन्दिर में संचालित होने वाली सभी परम्पराएं ठप हो गई थीं. बाद में सारी प्रक्रिया सुचारू तो हो गई लेकिन इस मामले की चर्चा बदरीनाथ धाम में आज भी रही.


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चमोली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 24, 2019, 3:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...