• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • ब्लाइंड रेप और मर्डर केस सॉल्व करने के लिए टनकपुर के सीओ पंत को मिलेगा यह विशेष मेडल

ब्लाइंड रेप और मर्डर केस सॉल्व करने के लिए टनकपुर के सीओ पंत को मिलेगा यह विशेष मेडल

पंत को यह सम्मान काठगोदाम में लाडली रेप और हत्या प्रकरण में बेस्ट जांच के लिए दिया जाएगा. पंत की जांच के बाद इस मामले में दोषी को अदालत ने मृत्युदंड दिया था.

पंत को यह सम्मान काठगोदाम में लाडली रेप और हत्या प्रकरण में बेस्ट जांच के लिए दिया जाएगा. पंत की जांच के बाद इस मामले में दोषी को अदालत ने मृत्युदंड दिया था.

विपिन पंत ने 10 से ज्यादा ब्लाइंड केस खोले हैं जबकि 2 मामलों में अपराधी को फांसी की सजा भी मिली है.

  • Share this:
चम्पावत जिले के टनकपुर में तैनात सीओ विपिन पंत को भारत सरकार की ओर से ब्लाइंड केस की सटीक छानबीन के लिए सम्मानित किया जाएगा. पंत को Union Home Minister’s Medal for Exellance in Investing के लिए चुना गया है. उन्हें यह सम्मान काठगोदाम में लाडली रेप और हत्या प्रकरण में बेस्ट जांच के लिए दिया जाएगा. उत्तराखण्ड पुलिस विभाग से यह सम्मान पाने वाले पंत इकलौते अफसर हैं. पंत की जांच के बाद इस मामले में दोषी को अदालत ने मृत्युदंड दिया था.

मुश्किल थी जांच 

चम्पावत ज़िले के टनकपुर में तैनात सीओ विपिन पंत को केंद्रीय गृह मंत्रालय मेडल देकर सम्मानित करेगा. विपिन पंत राज्य के इकलौते ऐसे अफसर हैं जिनको इस बार यह सम्मान हासिल हो रहा है. पंत को यह सम्मान 2014 में काठगोदाम में मासूम लाडली के साथ रेप और हत्या प्रकरण में बेस्ट जांच के लिए दिया जा रहा है.

Police Medal, उत्तराखण्ड पुलिस विभाग से यह सम्मान पाने वाले पंत इकलौते अफसर हैं.
उत्तराखण्ड पुलिस विभाग से यह सम्मान पाने वाले पंत इकलौते अफसर हैं.


पंत ने बताया कि यह केस एक मुश्किल केस था और इसे सॉल्व करने में उन्हें काफ़ी मेहनत करनी पड़ी थी, 24-24 घंटे जागना पड़ा था. उन्होंने अपराध को साबित करने में साइंटिफ़िक एविडेंस, सर्विलांस एविडेंस और सर्कमस्टैंशियल एविडेंस जुटाए थे. इनके आधार पर अदालत ने आरोपी को दोषी पाते हुए उसे फ़ांसी की सज़ा दी थी.

2 बार राज्यपाल पुरस्कार विजेता 

यह भी बता दें कि विपिन पंत को राज्य में ब्लाइंड केस खोलने वाले अधिकारी के रूप में जाना जाता है. जिन्होंने 10 से ज्यादा ब्लाइंड केस खोले हैं जबकि 2 मामलों में अपराधी को फांसी की सजा भी मिली है.

पंत के नाम एक और उपलब्धि है. 2004 में बनबसा में एसओ रहने के दौरान पंत ने वह भेष बदलकर नेपाल गए थे और वहां नेपाली माओवादियों के कब्जे से हरियाणा के दो पर्यटकों को छुड़ाकर भारत लाए थे. पुलिस विभाग में बेहतर सेवा के लिए उन्हें 2 बार राज्यपाल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है.

इस पुरस्कार के लिए पंत ने अपने सीनियर ऑफ़िसर्स का धन्यवाद अदा किया, जिन्होंने उनके नाम की सिफ़ारिश इस सम्मान के लिए की थी. उन्होंने इसे इसे राज्य का सम्मान और अपने लिए बड़ी उपलब्धि बताया.

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज