चंपावत DM ने लिया सड़क, पुल निर्माण का जायज़ा, कई जगह मिले लापरवाही के सबूत

डीएम ने धौन में निरीक्षण के दौरान सड़क पर मलबा पड़ा होने, कार्य बंद पाये जाने, कार्य की धीमी प्रगति पर असंतोष व्यक्त किया.

Kamlesh Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: April 17, 2018, 7:27 PM IST
चंपावत DM ने लिया सड़क, पुल निर्माण का जायज़ा, कई जगह मिले लापरवाही के सबूत
चंपावत के ज़िलाधिकारी डॉक्टर अहमद इकबाल ने मंगलवार को चम्पावत से घाट तथा पंचेश्वर डूब क्षेत्र में आ रहे पनार पुल का स्थलीय निरीक्षण किया.
Kamlesh Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: April 17, 2018, 7:27 PM IST
चंपावत के ज़िलाधिकारी डॉक्टर अहमद इकबाल ने मंगलवार को सड़क, पेयजल, विद्युत, वन, एआरटीओ, एसडीएम अधिकारियों के साथ प्रथम चरण में चम्पावत से घाट तथा पंचेश्वर डूब क्षेत्र में आ रहे पनार पुल का स्थलीय निरीक्षण किया.

ज़िलाधिकारी ने मानेश्वर से घाट की ओर गुरुकुलम के पास सड़क पर मिट्टी को तत्काल हटाने और समय से मिट्टी न हटाने वाले मिट्टी से किसी भी तरह की घटनाएं होने पर एफआईआर दर्ज कर संबंधित ठेकेदार को पुलिस के हवाले करने, उसे कार्य से हटाने के निर्देश एनएच के ईई को दिए.

बिना अनुमति/स्वीकृति के डम्पिंग जोन से बाहर मिट्टी डालने पर भारी नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए संबंधित कंपनी को नोटिस जारी कर भारी पेनल्टी वसूलने के निर्देश दिए. कई स्थानों पर सड़क की कटिंग वर्टिकल न होकर सीधी रखने पर वह नाराज़ हो गए और कटिंग वर्टिकल शेप में लाने के लिए निर्देश.

डॉक्टर इकबाल ने डंपिंग जोन की ढलान सड़क की ओर न रखने के साथ बापरू में सड़क किनारे के भवनों का भूगर्भ वैज्ञानिक से सर्वे कर सुरक्षा दीवार को प्राथमिकता देने के निर्देश एनएच के ईई को दिए. एनएच के ईई को सड़क से अतिक्रमण हटाने के साथ ही फिर न होने देने के निर्देश भी दिए गए.

उन्होंने निरीक्षण के दौरान जल स्रोतों का संरक्षण करने हेतु किसी भूगर्भवेत्ता को आमंत्रित कर उसका सहयोग लेने के निर्देश जल संस्थान को दिए. सड़क चौड़ीकरण की धीमी प्रगति एवं फारेस्ट स्वीकृति से इतर मलबा डालने पर नाराज़गी जताते हुए एनएच ईई को प्रतिदिन के आधार पर पेनाल्टी लगाने हेतु कारण बताओ नोटिस जारी करने और कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए. उन्होंने लगातार सड़क पर पानी का छिड़काव करने, एआरटीओ को वाहनों के ओवरटेकिंग में अंकुश लगाने, रोडवेज को वाहनों चलाते वक्त  सड़क में हो रही परेशानी वाले स्थानों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए.

चम्पावत से टनकपुर की ओर आल वेदर सड़क के निरीक्षण के दौरान कई स्थानों पर बोल्डरों के लटके होने, मोड़ों पर मलबा पड़ा होने, कम मशीनरी, कार्य की सुस्त रफ्तार पर ज़िलाधिकारी कार्यदायी संस्था शिवालिया के प्रबंधक पर बिफर पड़े और स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी कि अगर कार्य में प्रगति नहीं दिखी तो रोज़ के आधार पर पेनल्टी लगाने के साथ ही कंपनी से काम छीन लिया जाएगा.

ज़िलाधिकारी ने एनएच ईई को सड़क चौड़ीकरण में लगातार पैनी नजर रखने, मलबे को मोड़ों पर से हटाने, लटक रहे बोल्डरों को तत्काल हटाने, सड़क को 15-20 मिनट से अधिक बाधित न होने देने के निर्देश ईई एनएच को दिए. उन्होंने स्पष्ट कहा कि अगर मलबे से कोई दुर्घटना हुई तो कार्यदाई संस्था की जिम्मेदारी मानते हुए उनके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी.
Loading...

धौन में निरीक्षण के दौरान सड़क पर मलबा पड़ा होने, कार्य बंद पाये जाने, कार्य की धीमी प्रगति पर  असंतोष व्यक्त किया, नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए उन्होंने तत्काल मलबा हटाने व कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए.  ज़िलाधिकारी ने सड़क सुरक्षा हेतु निर्मित की जा रही दीवारों पर भी नाराज़गी व्यक्त की और मानक के अनुसार निर्माण करने, गुणवत्ता से किसी भी तरह का समझौता न करने के निर्देश दिए.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर