Assembly Banner 2021

उत्तराखंड में करोड़ों रुपयों का चिटफंड घोटाला कर लखनऊ में छिपा था सरगना प्रदीप अस्थाना

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

Uttarakhnad News: उत्तराखंड की चम्पावत पुलिस ने चिटफंड नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी घोटाले के मुख्य सरगना प्रदीप कुमार अस्थाना को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले को लेकर प्रदेश कई जिलों में रिपोर्ट दर्ज हैं.

  • Share this:
चम्पावत. उत्तराखंड की चम्पावत पुलिस ने चिटफंड नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी घोटाले के मुख्य सरगना प्रदीप कुमार अस्थाना को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है. आरोपित से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया है. पुलिस को आशंका है कि प्रदीप कुमार अस्थाना ने उत्तराखंड और यूपी में करोड़ों रुपयों की धोखाधड़ी को अंजाम दिया होगा. मुख्य सरगना की गिरफ्तारी से घोटाले से जुड़े और कई राज खुल सकते हैं. एसपी लोकेश्वर सिंह ने बताया कि नॉन बैंकिग फाइनेंस से संबंधित अल्मोड़ा में चार, पिथौरागढ़ में छह, बागेश्वर में आठ एवं चम्पावत में तीन अभियोग समेत कुल 21 मामले दर्ज हैं.

एसपी सिंह के मुताबिक चम्पावत पुलिस द्वारा उक्त घोटाले के मुख्य सरगना की धरपकड़ के लिए मुखबिरों को सतर्क कर सर्विलांस सैल को निगरानी पर लगाया गया था. सरगना के संबंध में जानकारी के लिए अन्य जनपदों व प्रदेशों से सम्पर्क साधा गया.  पुलिस ने शनिवार को घोटाले के मुख्य सरगना प्रदीप कुमार अस्थाना को थाना विभूति खंड, लखनऊ उत्तर प्रदेश गिरफ्तार कर लिया. एसपी ने बताया कि आरोपित को चम्पावत लाकर उससे पूछताछ कर वैधानिक कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

40 केस दर्ज
एसपी सिंह ने बताया कि प्रारंभिक जांच में आरोपित के खिलाफ उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश में करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी के लगभग 30 से 40 मुकदमे पंजीकृत होना प्रकाश में आया है. बता दें कि पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा एवं चम्पावत जिले में नॉन बैंकिग फाइनेंस कम्पनी घोटाले को लेकर  पुलिस महानिरीक्षक कुमाऊं परिक्षेत्र अजय रौतेला ने पर्यवेक्षण अधिकारी चम्पावत के एसपी लोकेश्वर सिंह को नियुक्त किया गया है. जल्द ही मामले में बड़ी सफलता पुलिस को मिलने की उम्मीद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज