मोबाइल ऐप से हाजिरी लगाने के निर्देश पर भड़के डॉक्टर, सामूहिक इस्तीफ़े की चेतावनी

डॉक्टरों का कहना है कि ऐप का इस्तेमाल इसलिए नहीं करेंगे क्योंकि इससे उनकी निजी जानकारियां लीक होने का ख़तरा है.

Kamlesh Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: June 6, 2018, 6:38 PM IST
मोबाइल ऐप से हाजिरी लगाने के निर्देश पर भड़के डॉक्टर, सामूहिक इस्तीफ़े की चेतावनी
चम्पावत डीएम अहमद इक़बाल के हेल्थ ऐप से उपस्थिति लगाने के निर्देश पर डॉक्टर भड़क गए हैं.
Kamlesh Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: June 6, 2018, 6:38 PM IST
चम्पावत डीएम अहमद इक़बाल के हेल्थ ऐप से उपस्थिति लगाने के निर्देश पर डॉक्टर भड़क गए हैं.नाराज़ डॉक्टरों ने डीएम को भेजे पत्र में मन मुताबिक काम लेने के लिए 9 शर्ते रख दी हैं. डॉक्टरों का कहना है अगर 10 दिन के अंदर हेल्थ ऐप से उपस्थिति के निर्देश वापस नहीं लिया गया तो न सिर्फ़ वह बिना वेतन के अवकाश पर चले जाएंगे और 15 दिन बाद सामूहिक इस्तीफ़ा दे देंगे.

गौरतलब है की दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्र में डॉक्टरों की कमी और लापरवाही को देखते डीएम अहमद इक़बाल हेल्थ ऐप इस्तेमाल करने के निर्देश 3 जून को दिए थे. लेकिन डॉक्टर इस निर्देश को मानने से इनकार कर रहे हैं.

डॉक्टर कुलदीप यादव ने आंदोलनरत डॉक्टरों का पक्ष रखते हुए कहा कि ज़िलाधिकारी ने पहले भी हाजिरी को लेकर कई तरह के निर्दश जारी किए हैं जिनका पालन किया गया है लेकिन ऐप का इस्तेमाल डॉक्टर नहीं करेंगे क्योंकि इससे उनकी निजी जानकारियां लीक होने का ख़तरा है.

champawat angry doctors

प्रभारी सीएमओ डॉक्टर रश्मि पंत ने कहा कि डॉक्टरों की हाजिरी को रजिस्टर मैन्टेन करके और बायोमेट्रिक्स हाजिरी के ज़रिए सौ प्रतिशत जस्टीफ़ाई करने की कोशिश की गई है. पंत कहती हैं कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में मोबाइल ऐप के माध्यम से RBS के सदस्यों को ट्रेस किया जाता है और उसी तर्ज पर डीएम भी मोबाइल ऐप का इस्तेमाल स्वास्थ्य के क्षेत्र में चाहते हैं.

हालांकि प्रभारी सीएमओ यह भी कहती हैं कि डॉक्टरों के आक्रोश को देखते हुए इस बारे में ज़िलाधिकारी से बात की जाएगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर