लाइव टीवी

डीएम के आदेश माने जाते तो शायद न जाती स्वाला में 10 लोगों की जान

Kamlesh Bhatt | ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 8, 2018, 12:39 PM IST
डीएम के आदेश माने जाते तो शायद न जाती स्वाला में 10 लोगों की जान

  • Share this:
चम्पावत  स्वाला के पास एनएच सड़क से 600 मीटर खाई में मैक्स वाहन गिरने और दस लोगों की मौत के पीछे बड़ी लापरवाही सामने आई है.

न्यूज़18 के पास ऐसे दस्तावेज हाथ लगे हैं जो ककरली गेट और चल्थी चौकी में तैनात कर्मचारियों की लापरवाही को ज़ाहिर करता है.

जिले के डीएम डॉक्टर अहमद इक़बाल और एडीएम हेमन्त वर्मा ने यातायात सुरक्षा को लेकर स्पष्ट निर्देश जारी किए थे कि बरसात के दिनों में सुबह 6 बजे और अन्य दिनों में ककरली गेट से सुबह 5 बजे के बाद पहाड़ के लिए वाहनों को जाने दिया जाए.

स्वाला वाले दुर्घटना स्थल की दूरी है ककरली गेट से लगभग 60 किलोमीटर है और स्थानीय लोगों के अनुसार  सुबह 5:30 बजे वाहन दुर्घटना हुई है.

एसपी धीरेन्द्र गुंज्याल भी घटना की जानकरी सुबह 6:10 पर मिलने की बात कर रहे हैं. स्पष्ट है कि यह वाहन डीएम के निर्देशों का उल्लंघन कर ककरली गेट से निकले थे और यह सुरक्षा में भारी चूक थी जिसकी कीमत 10 लोगों को जान देकर चुकानी पड़ी है.

अब सवाल यह है कि क्या इस घटना की जांच होगी भी क्योंकि अगर नहीं तो ऐसे हादसों को रोकना कभी संभव नहीं हो पाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चम्‍पावत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2018, 6:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...