लाइव टीवी

धनोल्टी में अबतक नहीं मिली नई करेंसी, बैक सिर्फ पुराने नोट जमा करवा रही

Sunil Silwal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 16, 2016, 10:21 PM IST
धनोल्टी में अबतक नहीं मिली नई करेंसी, बैक सिर्फ पुराने नोट जमा करवा रही
ETV/Pradesh18

नोटबंदी के बाद से आज तक बैंक प्रशासन लोगों को नए नोट उपलब्ध कराने में पुरी तरह से नाकाम रहा है. आठ दिन बीत जाने के बाद से बैंक अधिकारी लोगों से सिर्फ पैसा जमा करा रहे हैं लेकिन लोगों को नई करेंसी नहीं दे रहे हैं, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है.

  • Share this:
पर्यटन नगरी धनोल्टी में नोटबंदी के बाद से आज तक बैंक प्रशासन लोगों को नए नोट उपलब्ध कराने में पुरी तरह से नाकाम रहा है. आठ दिन बीत जाने के बाद से बैंक अधिकारी लोगों से सिर्फ पैसा जमा करा रहे हैं लेकिन लोगों को नई करेंसी नहीं दे रहे हैं, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है.

जिला टिहरी गढवाल के पर्यटक स्थल धनोल्टी में नए नोट बैंक लोगों को नहीं दे पाया है. धनोल्टी का उत्तराखंड ग्रामीण बैंक में आठ नंवबर के बाद से सिर्फ पैसा जमा हो रहा है, लेकिन लोगों को नई करेंसी देने के लिए बैंक के पास पैसा नहीं है.

ग्रामीण उपभोक्ता परेशान हैं. नोट बंदी का धनोल्टी के पर्यटन व्यवसाय पर भी पड़ा है. स्थानीय निवासी रमेश सिंह, नीरज बैलवाल, हरपाल सिंह ने कहा कि बैंक सिर्फ पुराने नोट जमा कर रहा है लेकिन नई करेंसी नही दे रहा हैं. बैंक आठ दिन बाद भी नई करेंसी का व्यवस्था करने में नाकाम रहा है.

होटल व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि पर्यटकों ने अपनी एडवांस बुकिंग रद्द कर दी है. नोटबंदी के बाद से धनोल्टी में सैलानियों की संख्या में 90 फीसदी से अधिक की कमी आई है. बैंक अधिकारी दीपक प्रकाश बैधवाल ने कहा कि नई करेंसी जल्द लोगों को देने का काम करेगें.

लोग बैंक के चक्कर काट कर थक चुके हैं. अब तो लोगों ने बैंक आना ही बंद कर दिया है. बैंक में लोगों ने करीब ढ़ाई करोड़ की पुरानी करेंसी तो जमा करा दी लेकिन नई करेंसी देने में बैंक प्रशासन नाकाम साबित हुआ है. इससे लोगों की परेशानी समझी जा सकती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चम्‍पावत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2016, 10:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...