Home /News /uttarakhand /

नशे को लेकर सीएम रावत हुए सख्त, सघन अभियान चलाने के दिए निर्देश

नशे को लेकर सीएम रावत हुए सख्त, सघन अभियान चलाने के दिए निर्देश

सीएम हरीश रावत ने देहरादून में नशीली दवाओं पर प्रभावी रोक के लिए सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर रेंडम चैकिंग की जाए. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में इस संबंध में आयोजित बैठक में छात्र-छात्राओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति पर चिंता जताते हुए कहा कि स्कूल कॉलेजों के आसपास स्थित पान की दुकानों और मेडिकल स्टोरों पर विशेष नजर रखी जाए.

सीएम हरीश रावत ने देहरादून में नशीली दवाओं पर प्रभावी रोक के लिए सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर रेंडम चैकिंग की जाए. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में इस संबंध में आयोजित बैठक में छात्र-छात्राओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति पर चिंता जताते हुए कहा कि स्कूल कॉलेजों के आसपास स्थित पान की दुकानों और मेडिकल स्टोरों पर विशेष नजर रखी जाए.

सीएम हरीश रावत ने देहरादून में नशीली दवाओं पर प्रभावी रोक के लिए सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर रेंडम चैकिंग की जाए. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में इस संबंध में आयोजित बैठक में छात्र-छात्राओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति पर चिंता जताते हुए कहा कि स्कूल कॉलेजों के आसपास स्थित पान की दुकानों और मेडिकल स्टोरों पर विशेष नजर रखी जाए.

अधिक पढ़ें ...
    सीएम हरीश रावत ने देहरादून में नशीली दवाओं पर प्रभावी रोक के लिए सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर रेंडम चैकिंग की जाए. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में इस संबंध में आयोजित बैठक में छात्र-छात्राओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति पर चिंता जताते हुए कहा कि स्कूल कॉलेजों के आसपास स्थित पान की दुकानों और मेडिकल स्टोरों पर विशेष नजर रखी जाए.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी दवाएं जिनका प्रयोग युवा नशा करने में कर रहे हैं, इसकी सूची तैयार कर यह सुनिश्चित किया जाए कि केवल लाइसेंसी स्टॉकिस्ट इन्हें डॉक्टर के प्रेसक्रिप्सन होने पर ही बेच रहे हों. उन्होंने कहा कि यह पाए जाने पर कि डॉक्टर के प्रेसक्रिप्शन के बिना बेची जा रही हैं तो उसका लाइसेंस निरस्त कर अन्य कार्रवाई की जाए. मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि शहर की शिक्षण संस्थानों के प्राचार्यों के साथ बैठक कर यह स्पष्ट कर दिया जाए कि एक सप्ताह में संस्थान सुनिश्चित कर लें कि उनके हॉस्टलों और संस्थानों में छात्रों के पास नशे से संबंधित किसी प्रकार की सामग्री न हो.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि कहीं से भी कोई सूचना मिलती है तो प्रशासन संस्थानों और हॉस्टलों में जांच करवा सकता है. मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनाकर मेडिकल स्टोर्स के लाइसेंस, स्टॉक और रजिस्टरों का औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि यह चेतावनी जारी कर दी जाए कि शिक्षण संस्थानों के पास पान आदि की दुकानों पर तंबाकू या अन्य पदार्थ पाउच में बेचा जाता है तो वो भी शक के दायरे में होगा.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों की भी जिम्मेवारी तय की जाए और यदि किसी स्तर पर संलिप्तता या लापरवाही पाई जाती है तो कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए. साथ ही कहा कि नशे के आदी हो चुके युवाओं से नशे की आदत छुड़ाने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों की सहायता ली जाए. सीएम ने कहा कि पुलिस अपने खुफिया तंत्र को नशे के नेटवर्क का पता लगाने में जुटाए और जहां से नशे के होने की सूचना मिल रही है, वहां विशेष रूप से ध्यान दिया जाए.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

    Tags: Harish rawat

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर