Assembly Banner 2021

सीएम त्रिवेंद्र सिंह का कार्यकर्ताओं को संदेश-जनता से कनेक्शन और कॉर्डिनेशन के साथ करना होगा काम

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत जनता को संबोधित करते हुए.

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत जनता को संबोधित करते हुए.

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट गये हैं. सीएम राज्य में दौरा कर विकास कार्यों का जायजा और जनता का फीडबैक ले रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 10:38 PM IST
  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने चुनावी साल में दौरे तेज कर दिए हैं. आगामी विधानसभा चुनाव में जमीन मजबूत करने के लिए सीएम क्षेत्र में जा रहे हैं. इस भ्रमण के दौरान सीएम ने कार्यकर्ताओं से कहा कि जनता और नेता में कॉर्डिनेशन और कनेक्शन सबसे जरूरी है.

साल 2021 की शुरुआत से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के काम का तरीका बदला हुआ है और मुख्यमंत्री विपक्ष को कोई मौका नहीं देना चाहते. बीते 2 महीने में सभी जिलों के विधानसभा क्षेत्रों के दौरे कर रहे हैं. साथ ही सीएम क्षेत्र में जाकर विकास कार्यों का जायजा ले रहे हैं और घोषणाओं की समीक्षा कर रहे हैं.

दिल्ली दौरे की बात हो, या फिर संगठन के 18 नेताओं को दायित्व सौपने की. सीएम का कहना है कि उनकी कोशिश जनता के साथ कॉर्डिनेशन बेहतर करने की है. ऊत्तराखंड में 2 मंडल, 13 ज़िलों और 70 विधनसभा क्षेत्रों की सियासत को साधना किसी एक नेता के लिए आसान काम नहीं है. इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने मंत्री, विधायकों और दर्जाधारियों को साफ संदेश दिया है कि जनता की सुनें और जो जनता कहे वो काम करें.



देहरादून: 1 करोड़ रुपये की स्मैक के साथ पुलिस ने एक तस्कर को किया गिरफ्तार
ऊत्तराखंड में हर पांचवें साल में होने वाली चुनावी परीक्षा सताधारी पार्टी के लिए आसन नहीं रही है. ऐसे में 57 विधायकों की सरकार का नेतृत्व कर रहे मुख्यमंत्री ने काम का मोड भी बदला है और कॉर्डिनेशन का तरीका भी. त्रिवेंद्र सरकार के 4 साल 18 मार्च को पूरे हो रहे हैं और इसी मौके पर सरकार 70 विधानसभाओं में कार्यक्रम की तैयारी कर रही है. स्टेट लेवल का सबसे बड़ा कार्यक्रम सीएम त्रिवेंद्र की विधानसभा डोईवाला के लच्छीवाला में होगा, जबकि हर विधानसभा क्षेत्र के प्रोग्राम में विधायक प्रोग्राम के अध्यक्ष होंगे.

वहीं अब कांग्रेस भी इस मौके पर राजनीति करने के मूड में है. चुनावी साल में कांग्रेस सियासत का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती है. कांग्रेस 14 मार्च के बाद पूरे राज्य में रैली करने की तैयारी कर रही है और ये रैलियां स्टेट लेवल की होंगी. खबर है कि 3 रैलियां गढ़वाल और 3 रैलियां कुमाऊं मंडल में होंगी, ताकि सरकार के खिलाफ चलाए जा रहे राजनीतिक अभियान का संदेश पूरे राज्य में जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज