Home /News /uttarakhand /

भाजपा के सांप्रदायिकता कार्ड को कुंद करने की तैयारी में कांग्रेस

भाजपा के सांप्रदायिकता कार्ड को कुंद करने की तैयारी में कांग्रेस

देश में सांप्रदायिकता को लेकर निशाने पर आ चुकी भाजपा को अब उत्‍तराखंड में भी कांग्रेस घेरने की तैयारी में है. कांग्रेस कार्यकर्ता अब राज्य में जगह-जगह मार्च और रैलियां निकालकर सांप्रदायिकता के खिलाफ एकजुट होने का संकल्प लेंगे.

देश में सांप्रदायिकता को लेकर निशाने पर आ चुकी भाजपा को अब उत्‍तराखंड में भी कांग्रेस घेरने की तैयारी में है. कांग्रेस कार्यकर्ता अब राज्य में जगह-जगह मार्च और रैलियां निकालकर सांप्रदायिकता के खिलाफ एकजुट होने का संकल्प लेंगे.

देश में सांप्रदायिकता को लेकर निशाने पर आ चुकी भाजपा को अब उत्‍तराखंड में भी कांग्रेस घेरने की तैयारी में है. कांग्रेस कार्यकर्ता अब राज्य में जगह-जगह मार्च और रैलियां निकालकर सांप्रदायिकता के खिलाफ एकजुट होने का संकल्प लेंगे.

    देश में सांप्रदायिकता को लेकर निशाने पर आ चुकी भाजपा को अब उत्‍तराखंड में भी कांग्रेस घेरने की तैयारी में है. कांग्रेस कार्यकर्ता अब राज्य में जगह-जगह मार्च और रैलियां निकालकर सांप्रदायिकता के खिलाफ एकजुट होने का संकल्प लेंगे.

    पार्टी का कहना है कि भाजपा ने कुछ राज्यों में खतरनाक प्रयोग किए हैं और देवभूमि में भी वह सत्ता के लिए इसे आजमाने की फिराक में हैं.

    सांप्रदायिकता और असहिष्णुता की चर्चा के बीच बिहार चुनाव में मुंह की खा चुकी भाजपा को प्रदेश में भी कांग्रेस करारी चोट देने की तैयारी में है. मिशन-2017 को मजबूती देने के लिए कांग्रेस ने सांप्रदायिकता के मुद्दे पर जनता के बीच जाकर संकल्प मार्च निकालने की रणनीति बनाई है.

    उत्‍तराखंड कांग्रेस का मानना है कि भले ही दिल्ली और बिहार में भाजपा को झटका लगा हो, लेकिन वे उत्तराखंड में माहौल बिगाड़कर राजनीतिक लाभ ले सकते हैं.

    मुख्‍यमंत्री हरीश रावत भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को आगाह कर चुके हैं कि बिहार चुनाव के बाद भाजपा कुछ भी कर सकती है. हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में हुई घटनाओं को कांग्रेस भाजपा की इन्हीं कोशिशों से जोड़ रही है.

    उत्‍तराखंड कांग्रेस के अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का कहना है कि प्रदेश में भी भाजपा के पास कोई मुद्दा है नहीं इसलिए वह हताशा में उत्तराखंड में भी सांप्रदायिकता का कार्ड खेल सकती है.

    कांग्रेस की इस रणनीति को भाजपा नेता जनता को भ्रमित करने का प्रयास बता रहे हैं. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष तीरथ रावत का कहना है कि कांग्रेस जो भी दुष्प्रचार करे, लेकिन उत्तराखंड की जनता पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला. तीरथ सिंह रावत का कहना है कि खुद कांग्रेस ही सांप्रदायिकता को बढ़ावा देती है और आरोप भाजपा पर लगाती है.

    पहले मंहगाई और अब सांप्रदायिकता, दो हजार सत्रह में दोबारा सत्ता के लिए जुगत लगा रही कांग्रेस भाजपा को किसी भी मोर्चे पर बख्शने के मूड में नहीं. इसलिए पहले भाजपा के हर संभावित अस्त्र के खिलाफ कांग्रेस ने जवाबी तैयारी कर ली है. देखना होगा कि बिहार के परिणाम से उत्साहित कांग्रेस के ये अभियान जनता पर कितना प्रभाव छोड़ पाते हैं.

    Tags: BJP, Congress

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर