उत्तराखंड: दूसरी लहर में 2000+ पुलिसकर्मी पॉज़िटिव, 90% को लगे थे दोनों डोज़

उत्तराखंड में पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में पुलिसकर्मी ज़्यादा संक्रमित हुए.

उत्तराखंड में पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में पुलिसकर्मी ज़्यादा संक्रमित हुए.

पहली लहर के मुकाबले इस बार पुलिसकर्मियों के बीच करीब 20 फीसदी ज़्यादा संक्रमण फैला. हालांकि पुलिस विभाग ने इस बारे में हरिद्वार में हुए कुंभ मेले में आयोजन के दौरान लगाई गई ड्यूटी को साफ तौर पर कारण नहीं माना है.

  • Share this:

देहरादून. उत्तराखंड में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप कितना भीषण रहा, इसे बताती हुई कई खबरें सामने आ चुकी हैं. ताज़ा खबर है कि राज्य में 2000 से ज़्यादा पुलिसकर्मी इस दौरान कोविड संक्रमित पाए गए, जिनमें से 93 फीसदी ऐसे कर्मचारी थे, जिन्हें वैक्सीन के दोनों डोज़ दिए जा चुके थे. इस बारे में जो आधिकारिक डेटा साझा किया गया है, उसके मुताबिक इन पुलिसकर्मियों में से पांच की मौत भी हुई जबकि गौर करने की बात यह है कि इन पांच में दो पहले से गंभीर रोगों से ग्रस्त बताए गए हैं और बाकी तीन को वैक्सीन न लगना डेटा में बताया गया है.

बीते मंगलवार को जो आधिकारिक डेटा सामने आया, उसके मुताबिक राज्य में उन 2382 पुलिसकर्मियों को अप्रैल और मई 2021 के महीनों के बीच संक्रमित पाया गया, जो ड्यूटी कर रहे थे. इनमें से 2204 रिकवर कर चुके हैं और पांच ने दम तोड़ा. इतनी बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने पर पुलिस के राज्य प्रमुख के प्रवक्ता नीलेश आनंद ने कहा कि इतने संक्रमणों में गंभीर मामले और मृत्यु होना कम देखा गया. उन्होंने यह भी कहा कि ध्यान रखना चाहिए कि वैक्सीन निर्माताओं तक ने यह गारंटी नहीं दी है कि वैक्सीन लगने के बाद संक्रमण नहीं हो सकता.

ये भी पढ़ें : रामदेव और बालकृष्ण का दावा, एक हफ्ते में आएगा ब्लैक फंगस का आयुर्वेदिक इलाज

दो आंकड़े और ध्यान देने वाले हैं. जिन पुलिसकर्मियों की संक्रमण से मौत हुई, उनमें से कुछ हरिद्वार के कुंभ मेले में ड्यूटी पर तैनात किए गए थे. हालांकि आनंद ने कहा कि उनकी मौत का धार्मिक आयोजन से कोई लेना देना नहीं माना जा सकता. दूसरा फैक्ट यह भी है कि 2000 से ज़्यादा संक्रमित पुलिसकर्मियों के परिवारों से कुल 751 संक्रमित लोग पाए गए, जिनमें से 64 की जान बचाई नहीं जा सकी.
गौरतलब है कि महामारी के पहले दौर में 1982 पुलिकर्मी संक्रमित पाए गए थे, जिनमें से 8 की मौत हुई थी. जारी हुए डेटा के एक विश्लेषण की मानें तो पिछले साल से अब तक राज्य में कुल 4364 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं और 13 की मौत हुई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज