लाइव टीवी

करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के 3 अफ़सर न्यायिक हिरासत में, 3 कॉलेजों पर छापे कभी भी

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: October 15, 2019, 8:02 PM IST
करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के 3 अफ़सर न्यायिक हिरासत में, 3 कॉलेजों पर छापे कभी भी
करोड़ों रुपये के हुए छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल तीन समाज कल्याण अधिकारियों को विजिलेंस कोर्ट ने मंगलवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

एसआईटी आईजी संजय गुंज्याल (SIT IT Sanjay Gunjyal) के मुताबिक आरोपी शिक्षण संस्थानों ने फ़र्ज़ी एडमिशन (Forged admissions) के ज़रिए धोखाधड़ी से करोड़ों रुपये के सरकारी धन का गबन किया है.

  • Share this:
देहरादून. करोड़ों रुपये के हुए छात्रवृत्ति घोटाले (Scholarship Scam) में शामिल तीन समाज कल्याण अधिकारियों को विजिलेंस कोर्ट (Vigilance Court) ने मंगलवार को न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) में जेल भेज दिया. एसआईटी जांच (SIT Investigation) में छात्रवृत्ति घोटाले में दोषी सिद्ध होने पर सोमवार को रिटायर्ड सहायक समाज कल्याण अधिकारी सोमप्रकाश (Somprakash) और मुनीष त्यागी (Munish Tyagi) के साथ सहायक समाज कल्याण अधिकारी विनोद नैथानी (Vinod Naithani) को हरिद्वार (haridwar) से गिरफ्तार किया था. इसके साथ ही अब इस घोटाले में शिकंजा और कसने जा रहा है. एसआईटी 24 घंटे के अंदर 3 बड़े कॉलेजों के ख़िलाफ़ केस दर्ज करने जा रही है.

अब तक 13 कॉलेज मालिक, 4 अफ़सर गिरफ़्तार 

बता दें कि आज जिन तीन अधिकारियों को विजिलेंस कोर्ट ने जेल भेजा है उनकी ज़िम्मेदारी साल 2010 से 2016 तक छात्रों का कॉलेजों में छात्रवृत्ति पाने वाले छात्रों का सत्यापन करना थी. लेकिन इनकी मिलीभगत से हरिद्वार ज़िले में कई कॉलेजों को छात्रवृत्ति के नाम पर पैसा गलत तरीके से बांटा गया.

sit, एसआईटी ने मंगलवार को आरोपियों को विजिलेंस कोर्ट में पेश किया. अडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज (थर्ड) श्रीकांत पांडे की कोर्ट ने सभी आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

एसआईटी ने मंगलवार को आरोपियों को विजिलेंस कोर्ट में पेश किया था.एसआईटी जांच में ये दोषी पाए गए तो एसआईटी ने मंगलवार को इन्हें विजिलेंस कोर्ट में पेश किया. अडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज (थर्ड) श्रीकांत पांडे की कोर्ट ने सभी आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. बता दें कि छात्रवृत्ति घोटाले में अभी तक एसआईटी ने 13 कॉलेज मालिकों और चार समाज कल्याण अधिकारियों को गिरफ़्तार किया है.

3 कॉलेजों में छापा कभी भी 

एसआईटी के आईजी संजय गुंज्याल ने बताया कि अब इस मामले में कार्रवाई और तेज होने जा रही है. मंगलवार शाम न्यूज़ 18 से बातचीत में गुंज्याल ने कहा कि अगले 24 घंटों में तीन बड़े कॉलेजों के खिलाफ एसआईटी मुकदमा दर्ज करेगी. ये तीनों कॉलेज नैनीताल और ऊधम सिंह नगर में स्थित हैं.
Loading...

sanjay gunjiyal, आईजी संजय गुंज्याल के मुताबिक एसआईटी टीम की जांच में पता चला है कि आरोपी तीनों शिक्षण संस्थानों ने फ़र्ज़ी एडमिशन के ज़रिए धोखाधड़ी से करोड़ों रुपये के सरकारी धन का गबन किया है.
आईजी संजय गुंज्याल के मुताबिक एसआईटी टीम की जांच में पता चला है कि आरोपी तीनों शिक्षण संस्थानों ने फ़र्ज़ी एडमिशन के ज़रिए धोखाधड़ी से करोड़ों रुपये के सरकारी धन का गबन किया है.


बता दें कि देहरादून-हरिद्वार को छोड़कर राज्य के बाकी 11 ज़िलों के लिए गठित की गई एसआईटी टीम कुमाऊं और गढ़वाल के आरोपी शिक्षण संस्थानों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हासिल करने के बाद गिरफ़्तारियां कर रही है.

इसलिए पर्याप्त सबूतों के आधार पर एस आईटी अगले 24 घंटे में इन तीन कालेजों के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज करेगी.

ये भी देखेें: 

छात्रवृत्ति घोटाले में कांग्रेस विधायक काज़ी निजामुद्दीन के भाई समेत 3 गिरफ़्तार

छात्रवृत्ति घोटाला: याचिकाकर्ता ने सीबीआई जांच की मांग की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 7:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...