लाइव टीवी

डूब ही गए बिटकॉयन में 485 करोड़ रुपये... पासवर्ड उगलवाने के चक्कर में हत्यारा बना यह युवक

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: October 29, 2019, 6:23 PM IST
डूब ही गए बिटकॉयन में 485 करोड़ रुपये... पासवर्ड उगलवाने के चक्कर में हत्यारा बना यह युवक
इस केस में 485 करोड़ रुपये कीमत के बिटकॉयन किसी के हाथ न लग सके... उन्हें बचाने की कोशिश में शकूर ने जान गवां दी और हासिल करने की कोशिश में आसिफ़ हत्यारा बन गया.

मुख्य आरोपी मोहम्मद आसिफ़ (Mohammad Asif) के अनुसार वह जानते थे कि भले ही शकूर (Shakur) की कंपनियां घाटे में चल रही हों लेकिन अब भी उसके पास कई सौ करोड़ रुपये के बिटकॉयन (Bitcoin) हैं.

  • Share this:
देहरादून. न ख़ुदा ही मिला न विसाल-ए-सनम, न इधर के हुए न उधर के हुए... देहरादून (Dehradun) में अगस्त में मारे गए केरल निवासी अब्दुल शकूर (Abdul Shakur) और उसकी हत्या के मुख्य आरोपी मोहम्मद आसिफ़ (Mohammad Asif) दोनों पर ये लाइन ठीक बैठती है. इस वारदात में 485 करोड़ रुपये कीमत के बिटकॉयन (Bit Coin) किसी के हाथ न लग सके... उन्हें बचाने की कोशिश में शकूर ने जान गवां दी और हासिल करने की कोशिश में आसिफ़ हत्यारा बन गया. मंगलवार को मोहम्मद आसिफ़ की गिरफ़्तारी के साथ ही देहरादून पुलिस (Dehradun Police) ने इस केस की सभी कड़ियां जोड़ ली हैं.

शव छोड़कर भागे थे 

बता दें कि इसी साल 28 अगस्त की रात देहरादून के मैक्स अस्पताल के बाहर कुछ लोग एक मृतक को लेकर आए थे और डॉक्टरों के कुछ भी करने में असमर्थता जताए जाने के बाद क्रेटा गाड़ी और शव को छोड़कर भाग गए थे. मृतक को देखने से लग रहा था कि उसे यातनाएं दी गई हैं.

जांच के क्रम में पुलिस को पता चला कि मृतक अब्दुल शकूर केरल का रहने वाला था और अपनी दो कंपनियों के ज़रिए बिटकॉयन में इन्वेस्ट करवाया गया था. पिछले कुछ समय में बिटकॉयन की कीमत गिरने की वजह से उसे नुक़सान हो गया था और देनदारों से बचने के लिए वह अपने साथियों के साथ भागता फिर रहा था.

bitcoin murder accused, हत्या के मुख्यारोपी के अनुसार उसने 13 करो़ड़ मृतक की कंपनियों में इन्वेस्ट किए थे.
हत्या के मुख्यारोपी के अनुसार उसने 13 करो़ड़ मृतक की कंपनियों में इन्वेस्ट किए थे.


13 करोड़ किए थे निवेश 

उसकी हत्या के मामले में पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया था लेकिन मुख्य आरोपी मोहम्मद आसिफ़ समेत 5 आरोपी फ़रार चल रहे थे. अपने गांव पहुंचने के बाद वकील की सलाह पर देहरादून में अदालत में सरेंडर करने आए आसिफ़ को पुलिस ने अदालत पहुंचने से पहले ही प्रेमनगर इलाक़े से गिरफ़्तार कर लिया.
Loading...

देहरादून के एसएसपी अरुण मोहन जोशी के अनुसार पूछताछ में आसिफ़ ने पुलिस को बताया कि शुरुआत में बिटकॉयन के निवेश में फ़ायदा मिलने के बाद उसने अपने नीचे कई लोगों को जोड़ा और करीब 13 करोड़ रुपये शकूर की कंपनी में निवेश किए. बिटकॉयन में मंदी आने के वजह से उनके समेत केरल के कई लोगों की देनदारी शकूर पर हो गई थी.

कंपनियां घाटे में, बिटकॉयन करोड़ों के 

आसिफ़ के अनुसार वह जानते थे कि भले ही शकूर की कंपनियां घाटे में चल रही हों लेकिन अब भी उसके पास कई सौ करोड़ रुपये के बिटकॉयन हैं. अपने पैसे वसूलने के लिए उन्होंने शकूर से पासवर्ड जानने की कोशिश की और इसके लिए उसे खूब प्रताड़ित भी किया. उसकी मौत होने के बाद ये लोग घबरा गए और अलग-अलग फ़रार हो गए थे.

एसएसपी के अनुसार मुख्य आरोपी की गिरफ़्तरी के बाद यह केस सॉल्व कर लिया गया है. बाकी फ़रार अभियुक्तों की भी जल्द ही गिरफ़्तारी कर ली जाएगी.

ये भी देखेंः 

485 करोड़ के बिटकॉयन के चक्कर में गई थी देहरादून में शकूर की जान...

अपराध न सुलझा पाने वाले थाना इंचार्जों पर गिरेगी गाज, ऋषिकेश लूट की जांच फिर होगी 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 5:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...