लाइव टीवी

बागेश्वर में भी गुलदार आदमखोर घोषित, पौड़ी के आदमखोर की तलाश में निकले शिकारी जॉय हुकिल

News18 Uttarakhand
Updated: October 7, 2019, 12:35 PM IST
बागेश्वर में भी गुलदार आदमखोर घोषित, पौड़ी के आदमखोर की तलाश में निकले शिकारी जॉय हुकिल
पिथौरागढ़ में आदमखोर गुलदार को शुक्रवार को शिकारियों ने मारा है तो पौड़ी में भी एक गुलदार को आदमखोर घोषित किया जा चुका है और उसकी तलाश की जा रही है. (फ़ाइल फ़ोटो)

पौड़ी में दो अक्टूबर को तो बागेश्वर में चार अक्टूबर को गुलदार ने दो बच्चियों पर हमला कर उन्हें मार दिया था.

  • Share this:
उत्तराखंड (Uttarakhand) में मानव-वन्य जीव संघर्ष (Man-Animal Conflict) चरम पर है. पिथौरागढ़ (Pithoragarh) में आदमखोर गुलदार (Man Eater Leopard) को शुक्रवार को शिकारियों ने मारा है तो पौड़ी (Pauri) में भी एक गुलदार को आदमखोर घोषित किया जा चुका है और उसकी तलाश की जा रही है. इस बीच बागेश्वर (Bageshwar) में भी एक गुलदार को आदमखोर घोषित कर उसे मारने की मांग की जा रही थी जिसकी अनुमति रविवार को मिल गई. हालांकि पिथौरागढ़ के आदमखोर गुलदार को मारने वाले शिकारी जॉय हुकिल (Hunter Joy Huckil) पहले पौड़ी के गुलदार का शिकार करने की कोशिश करेंगे.

बीस दिन से कर रहे थे आदमखोर का पीछा 

बता दें कि पिथौरागढ़ में सात लोगों को घायल और एक महिला का शिकार बनाने वाले गुलदार को शुक्रवार रात को शिकारी जॉय हुकिल की टीम ने मार गिराया था. जॉय हुकिल के साथी करीब 20 दिन से गुलदार का पीछा कर रहे थे.

पिथौरागढ़ में तो फ़िलहाल आदमखोर गुलदार का आतंक ख़त्म हो गया है लेकिन पौड़ी और बागेश्वर में अब भी आदमखोर की दहशत बनी हुई है. बता दें कि पौड़ी में दो अक्टूबर को तो बागेश्वर में चार अक्टूबर को गुलदार ने दो बच्चियों पर हमला कर उन्हें मार दिया था.

बागेश्वर में स्थिति बहुत गंभीर है और इस साल अब तक गुलदार छह लोगों को मार चुके हैं. चार अक्टूबर की ताजा घटना के बाद रविवार को चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन राजीव भरतरी ने बागेश्वर के गुलदार को भी आदमखोर घोषित करते हुए उसे शूट करने के आदेश दे दिए हैं.

उत्तराखंड में मानव-वन्य जीव संघर्ष कितना गंभीर है यह नीचे दिए आंकड़ों से समझा जा सकता है... 

    Loading...

  • बीते छह साल में 300 से ज़्यादा लोग जंगली जानवरों के हमले में अपनी जान गंवा चुके हैं.

  • छह साल में जंगली जानवरों के हमलों में 1486 लोग घायल हुए हैं.

  • इसी अवधि के दौरा शिकारी जानवरों ने 26,000 से ज़्यादा मवेशियों का शिकार किया है.

  • राजाजी टाइगर रिजर्व का मोतीचूर एरिया मानव- वन्य जीव संघर्ष का हॉट स्पॉट बना हुआ है. यहां आदमखोर गुलदारों ने पिछले पांच सालों में 20 लोगों को मार डाला है.

  • राज्य बनने से लेकर अभी तक उत्तराखंड में 53 गुलदार आदमखोर घोषित किए जा चुके हैं.


(ब्यूरो इनपुट के साथ सुनील नवप्रभात की रिपोर्ट)

ये भी देखेंं: 

इस रिहायशी इलाके में घूम रहे 40 तेंदुए, 5 सालों में 20 नागरिकों को बनाया निवाला

जान पर खेलकर बहन ने गुलदार से बचाई अपने 4 साल के भाई की जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 12:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...