Home /News /uttarakhand /

Politics of Uttarakhand : विधानसभा के शीत सत्र के पहले दिन गर्माएगी सियासत, विरोध के लिए ये है AAP की तैयारी

Politics of Uttarakhand : विधानसभा के शीत सत्र के पहले दिन गर्माएगी सियासत, विरोध के लिए ये है AAP की तैयारी

अपने समर्थकों के साथ रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल.

अपने समर्थकों के साथ रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल.

Uttarakhand Assemby Session : आम आदमी पार्टी का कहना है कि शिक्षा, स्वास्थ्य, विकास सभी मुद्दों पर तीन मुख्यमंत्रियों वाली सरकार (BJP Government) नाकाम रही है. आप का आरोप है कि आंदोलनकारियों के सपने अधूरे हैं और हर वर्ग की समस्याएं जस की तस हैं. आप ने मुख्यमंत्री (Pushkar Dhami) को घेरते हुए कहा, क्या यह प्रदेश सिर्फ 'घोषणा प्रदेश' बनकर रह गया है. उत्तराखंड में चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) से कुछ ही पहले होने जा रहे विधानसभा सत्र (Winter Session) के दौरान महंगाई, बेरोज़गारी, पलायन जैसे मुद्दों पर BJP सरकार को आप कैसे घेरने की रणनीति बना रही है? जानिए.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन यानी 9 दिसम्बर को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता विधानसभा का घेराव करेंगे. पिछले पांच सालों में बीजेपी के कार्यकाल को विफलताओं से भरा बताते हुए कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे. विधानसभा के घेराव की तैयारी ज़ोरों से कर रहे कार्यकर्ताओं का कहना है कि पिछले पांच साल के कार्यकाल में बाजेपी ने जनहित के काम नहीं किए, 2017 में की गई चुनावी घोषणाएं आज तक पूरी नहीं हुईं. आप का आरोप है कि विकास के नाम से आज भी कोसों दूर राज्य में बीजेपी ने जनहित के मुद्दों को छोड़ते हुए इन पांच सालों में सिर्फ मुख्यमंत्री बदलने का काम किया.

आप का कहना है कि प्रदेश को नया मुख्यमंत्री युवा मिला, लेकिन पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश की जनता को नाउम्मीद किया और वह सिर्फ वो सिर्फ घोषणा करने वाले सीएम निकले. ‘यहां के युवाओं के सपनों को तोड़ने का काम करने के कारण जनता भी अब पुष्कर धामी को “कुछ कर” धामी कह रही है.’ आम आदमी पार्टी के आधिकारिक बयान मे कहा गया, ‘2017 में जुमलेबाज़ बीजेपी ने जनता से विकास की गंगा बहाने का वादा किया था, हर समस्या के समाधान की बात कही थी, कई वादे किए थे, लेकिन कोई वादा पूरा नहीं हुआ. बीजेपी का 2017 का घोषणापत्र महज़ छलावा निकला.’

आप ने सीएम को घेरकर ऐसे दिए नारे
* भू कानून के लिए कुछ कर धामी
* बेरोज़गारों के लिए कुछ कर धामी
* बिजली पानी के लिए कुछ कर धामी
* महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए कुछ कर धामी,
* स्वास्थ्य की बदहाल स्थिति बदलने के लिए कुछ कर धामी
* अच्छी शिक्षा के लिए कुछ कर धामी
* भ्रष्टाचार मिटाने के लिए कुछ कर धामी
* मंहगाई को रोकने के लिए कुछ कर धामी

बीजेपी की घोषणाओं पर आप के सवाल
* आप ने कहा कि प्रदेश को ज्ञान प्रदेश बनाने की बात कही गई थी, लेकिन क्या ऐसा हो पाया?
* शासकीय, अशासकीय और काॅलेजों में शिक्षकों और कर्मचारियों की तैनाती की बात कही गई थी, लेकिन क्या ऐसा हो पाया?
* छात्राओं के लिए हर ज़िले में आवासीय स्कूल खुलने थे, पाठ्यक्रम में बदलाव होना था, सभी विश्वविद्यालयों को फ्री वाई फाई से कनेक्ट करना था, सेवारत अतिथि और संविदा शिक्षकों का समायोजन होना था, लेकिन क्या ये सब मुमकिन हुआ?

Tags: Uttarakhand AAP, Uttarakhand assembly, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर