• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • AAP का दावा, 'सेल्फी विद टेंपल' मुहिम से जुड़े हज़ारों उत्तराखंडी, जानिए इस अभियान की वजह

AAP का दावा, 'सेल्फी विद टेंपल' मुहिम से जुड़े हज़ारों उत्तराखंडी, जानिए इस अभियान की वजह

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया.

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया.

उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के इस अभियान को वोटरों को लुभाने का हथकंडा कहा तो आप ने भी दोनों पार्टियों पर निशाना साधा. जानिए क्या है पूरा मामला और कैसे आप की वेबसाइट से जुड़ रहे हैं लोग.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    देहरादून. उत्तराखंड चुनावी माहौल में सभी सियासी पार्टियां जनमत के लिए अपने स्तर पर मुहिम छेड़ रही हैं. इसी सिलसिले में आम आदमी पार्टी ने पहल करते हुए उत्तराखंड में ‘सेल्फी विद टेंपल’ मुहिम शुरू कर दी है. देवभूमि कहे जाने वाले राज्य में हाल में इस मुहिम के शुरू होने के बाद से अब तक करीब 25 हज़ार लोगों के जुड़ जाने का दावा भी आप ने किया. इस अभियान के तहत पार्टी ने लोगों से अपील की है कि वह राज्य स्थित अपने विशेष लगाव वाले किसी मंदिर के सामने सेल्फी खींचकर पोस्ट करने को कहा है, जिसकी मौजूदा हालत में सुधार की ज़रूरत हो. यही नहीं, ऐसे मंदिर की स्थिति सुधारने को लेकर आप ने लोगों से उनकी राय भी मांगी है.

    आम आदमी पार्टी के नेता नवीन पिरशाली के हवाले से खबरों में कहा गया कि इस मुहिम के साथ सिर्फ चार दिनों में 22,976 लोग जुड़े, जिन्होंने अपने सुझाव देकर बताया कि राज्य के किस मंदिर की स्थिति को किस तरह बेहतर किया जा सकता है. पिरशाली ने यह भी कहा कि उत्तराखंड को देश की आध्यात्मिक राजधानी बनाए जाने के संबंध में आप ने सफलतापूर्वक वेबसाइट लॉंच की, जिसके माध्यम से यह मुहिम चल रही है.

    ये भी पढ़ें : उत्तराखंडः नैन‍ीताल हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, चारधाम यात्रा पर लगी रोक हटाई, लेकिन इन शर्तों पर

    uttarakhand news, uttarakhand aam aadmi party, uttarakhand famous temples, temple selfie, उत्तराखंड न्यूज़, आम आदमी पार्टी उत्तराखंड, उत्तराखंड के प्रसिद्ध मंदिर

    आप का दावा है कि उसका सेल्फी विद टेंपल ​अभियान चर्चित और लोकप्रिय हो रहा है. (Symbolic Image)

    ये भी पढ़ें : उत्तराखंड कांग्रेस में घमासान, विधायक के BJP में जाते ही हाईकमान ने हरीश रावत को दिल्ली बुलाया

    वास्तव में, इस अभियान के दो मकसद बताए गए हैं. आप का दावा है कि लोगों के सुझावों से राज्य के मंदिरों को विश्व पटल पर पर्यटन के नक्शे और पहचान के लिहाज़ से बेहतर करने में मदद मिलेगी. दूसरी ओर, चर्चा यह भी ​है कि देवभूमि में चुनाव जीतने के लिए लोगों की धार्मिक भावना के साथ जुड़ाव के लिहाज़ से आप का यह अभियान मील का पत्थर भी साबित हो सकता है. विपक्षियों के इस तरह के हमले पर भी आप ने निशाना साधते हुए साफ कहा कि लोग इस मुहिम के साथ हैं और विपक्षियों को तकलीफ किस बात की है अगर आप ने उत्तराखंड को हिंदू आस्था की राजधानी बनाने का मिशन शुरू किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज