चमकी बुखार का ख़तरा तो यहां भी है... अगले दो हफ़्ते तक बरतें ये सावधानियां

परिवार में बड़े ख़ासतौर पर यह ध्यान रखें कि धूप में खेलने के बाद बच्चे खाली पेट न सोएं.

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: June 20, 2019, 7:04 PM IST
चमकी बुखार का ख़तरा तो यहां भी है... अगले दो हफ़्ते तक बरतें ये सावधानियां
देहरादून की लीची भी बहुत मशहूर है लेकिन ख़ुशकिस्मती से उत्तराखंड में चमकी बुखार का कोई मामला सामने नहीं आया है.
Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: June 20, 2019, 7:04 PM IST
बिहार में 150 से भी ज़्यादा बच्चों की जान लेने वाले चमकी बुखार या एईएस का ख़तरा उत्तराखंड ख़ासकर देहरादून में भी मौजूद है. मुजफ्फरपुर की तरह देहरादून की लीची भी मशहूर रही है और बड़े पैमाने पर आवासीय कॉलोनियां बनने के बावजूद देहरादून में अब भी लीची के बागान मौजूद हैं और बच्चों-बड़ों में लीची खाने का शौक भी. राज्य के स्वास्थ्य महानिदेशक रहे बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर डीएस रावत कहते हैं कि इस मौसम में लीची खाते समय कुछ सावधानियां बरतना ज़रूरी है.

न्यूज़ 18 से बात करते हुए डॉक्टर डीएस रावत ने कहा कि यह अच्छी बात है कि उत्तराखंड में ऐसा कोई केस रिपोर्ट नहीं हुआ है लेकिन चमकी बुखार की आशंका से इनकार भी नहीं किया जा सकता. हालांकि जो भी मासूम चमकी बुखार के शिकार हुए हैं वह बहुत कुपोषित बच्चे थे. अगर स्वस्थ बच्चे लीची खाएं तो यह बुखार नहीं होगा.

यह ऐहतिहात बरतें 

डॉक्टर रावत कहते हैं कि फिर भी सबको बरतनी चाहिए. परिवार में बड़े ख़ासतौर पर यह ध्यान रखें कि धूप में खेलने के बाद बच्चे खाली पेट न सोएं. ऐसा बिल्कुल न हो कि बच्चे दिनभर लीची ही खाएं. शाम को तो बच्चों को पेटभर खाना लेना ही चाहिए.

बागेश्वर में फूड पॉइजनिंग से 90 लोग हुए बीमार, 10 बच्चे गंभीर

बता दें कि एईएस या चमकी बुखार में खाली पेट लीची खा लेने की वजह से बच्चों में शुगर लेवल बहुत कम हो जा रहा है और उसकी वजह से बिहार के कई ज़िलों में यह बुखार जानलेवा हो गया है.

डॉक्टर रावत के अनुसार दो हफ़्ते में बारिश होने के बाद यह सब ख़त्म हो जाएगा और हम सबको मिलकर यह कोशिश करनी चाहिए कि ऐसा फिर न हो. देवभूमि उत्तराखंड को राहत है कि यहां चमकी बुखार के कदम नहीं पड़े हैं लेकिन ऐहतिहात बरतना सबके लिए ज़रूरी है.
Loading...

बदलते मौसम में बीमार पड़ रहे बच्चे व बुजुर्ग, अस्पतालों में बढ़ रही भीड़

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 20, 2019, 5:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...