Home /News /uttarakhand /

सीएम के निर्देश के बाद पुलिस को स्‍कूल-कॉलेजों के आसपास छात्राओं की सुरक्षा बढ़ाने के आदेश

सीएम के निर्देश के बाद पुलिस को स्‍कूल-कॉलेजों के आसपास छात्राओं की सुरक्षा बढ़ाने के आदेश

अशोक कुमार,एडीजी लॉ एंड आर्डर

अशोक कुमार,एडीजी लॉ एंड आर्डर

प्रदेश भर में महिलाओं और स्कूल कॉलेज की छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की बढ़ती घटनाओं ने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में पौड़ी की छात्रा की उपचार के दौरान मौत और प्रदेश भर में छात्राओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ जैसी घटनाओं को​ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गंभीरता से लिया है. सीएम ने उत्तराखंड पुलिस को महिलाओं और स्कूल-कॉलेज जाने वाली छात्राओं की सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. इसके बाद एडीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार की तरफ से सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को आदेश जारी कर स्कूल-कॉलेजों के बाहर पुलिस सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा गया है.

बता दें कि प्रदेशभर में महिलाओं और स्कूल-कॉलेज की छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की बढ़ती घटनाओं ने कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं. इसे देखते हुए ही अब स्कूल, कॉलेज और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर घूमने वाले मनचलों की अब खैर नहीं होगी.

स्थानीय थाना पुलिस और सिटी पेट्रोलिंग यूनिट (सीपीयू) को ऐसे स्थानों पर पेट्रोलिंग कर मनचलों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं. हालांकि ये देखने वाली बात होगी की पुलिस मुख्यालय से जारी इन आदेशों पर कितना अमल हो पाता है.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने कहा कि सीपीयू स्कूल और कॉलेज खुलने के समय और छुट्टी के समय भी पेट्रोलिंग करेगी. इस दौरान कड़ी नजर रखी जाएगी. अगर किसी ने भी छेड़खानी की घटना को अंजाम दिया, तब सख्त कार्रवाई की जाएगी. यह सब पहले भी की जाती रही है. एक बार फिर से जिला पुलिस को सतर्क किया गया है कि इस तरह की घटनाओं की रोकथाम करें.

ये भी पढ़ें - पौड़ी में जिंदा जलाई गई छात्रा ने सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ा

ये भी पढ़ें - जिंदा जलाई गई लड़की की मौत पर सीएम ने दुख जताया

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर