Home /News /uttarakhand /

चार साल बाद स्वास्थ्य महकमे ने मानी गलती

चार साल बाद स्वास्थ्य महकमे ने मानी गलती

2009 में प्रदेश की तत्कालीन भाजपा की सरकार ने अजय भट्ट को राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार परिषद का अध्यक्ष और ‌उपाध्यक्ष मनोनीत किया था.

2009 में प्रदेश की तत्कालीन भाजपा की सरकार ने अजय भट्ट को राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार परिषद का अध्यक्ष और ‌उपाध्यक्ष मनोनीत किया था.

2009 में प्रदेश की तत्कालीन भाजपा की सरकार ने अजय भट्ट को राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार परिषद का अध्यक्ष और ‌उपाध्यक्ष मनोनीत किया था.

    देहरादून चार साल के बाद स्वास्थ्य महकमे ने अपनी गलती मानी है. 2009 में प्रदेश की तत्कालीन भाजपा की सरकार ने अजय भट्ट को राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार परिषद का अध्यक्ष और ‌उपाध्यक्ष मनोनीत किया था.

    अब स्वास्थ्य महकमे ने एक आदेश जारी कर दिया है, जिसमें अध्यक्ष के मनोनयन को गलत करार दिया है. वहीं, आरटीआई कार्यकर्ता रमेश चन्द्र ने अजय भट्ट के खिलाफ मुकादमा दर्ज करने की मांग की है.

    आपको बता दें कि 2009 से 2012 तक अजय भट्ट परिषद के अध्यक्ष के पद पर आसीन थे. रमेशचन्द्र आरटीआई कार्यकर्ता का कहना है कि उन्होंने तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष हरवंश कपूर से पूरे मामले की जांच की मांग की थी. करीब चार साल के बाद यह जांच किसी नतीजे पर पहुंच चुकी.

    उनका कहना है कि उस दौरान करीब 400 करोड़ रुपये के दवाओं का एनआरएचएम घोटाला हुआ है, जिसकी जांच सीबीआई के विचाराधीन है. ऐसे में स्वास्थ्य महकमे ने अपनी गलती मानी है. मगर सबसे बड़ा सवाल यह है कि तीन सालों तक अजय भट्ट आखिर किस हैसियत से परिषद के अध्यक्ष बने रहे, क्योकिं अब स्वास्थ्य महकमा मान रहा है कि उनका मनोनयन ही गलत तरीके से हुआ था.

    आरटीआई कार्यकर्ता रमेश चन्द्र का कहना है कि अब शासन को अजय भट्ट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए, क्योकिं शासन को गुमराह करके उनका मनोनयन परिषद के अध्यक्ष के पद पर हुआ था. जबिक यह दोनों ही पद मुख्य मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के अधीन होते है.

    ऐसे में आखिर उनको कैसे मनोनीत कर दिया गया था. उनका कहना है कि तीन सालों तक उन्होंने सरकारी वाहन और कार्यालय का इस्तेमाल किया, मगर सबसे हैरत की बात है उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर