एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम से लैस हैं एंबुलेंस, जरूरतमंद को राहत की उम्मीद

उत्तराखंड में 108 एंबुलेंस सर्विस का काम 1 मई से नई कंपनी 'कैंप' देखेगी. कंपनी का दावा है कि राज्य के हर कोने में पब्लिक को अच्छी सर्विस मिलेगी.

Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: April 23, 2019, 8:50 PM IST
एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम से लैस हैं एंबुलेंस, जरूरतमंद को राहत की उम्मीद
देहरादून - जनता से जुड़ी इस सेवा पर सरकार को भी नजर बनाकर रखनी होगी.
Deepankar Bhatt
Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: April 23, 2019, 8:50 PM IST
उत्तराखंड में 108 एंबुलेंस सर्विस का काम 1 मई से नई कंपनी 'कैंप' देखेगी. कंपनी का दावा है कि राज्य के हर कोने में पब्लिक को अच्छी हेल्थ सर्विस मिलेगी. पर, उससे बड़ी चुनौती बीते कुछ सालों में 108 की बिगड़ी इमेज को सुधारना है. कभी खराबी तो कभी तेल ना होने की वजह से जो 108 एंबुलेंस अटक जाती थी, 1 मई से उत्तराखंड की जनता को उस मुश्किल से राहत मिल सकती है. हेल्थ डिपार्टमेंट ने 78 नई एंबुलेंस सर्विस देने वाली कंपनी 'कैंप' को सौंप दी है. 61 नई एंबुलेंस पहले से सड़कों पर दौड़ रही है. यानि 1 मई से पूरे राज्य के हर कोने में दौड़ने वाली एंबुलेंस नई होगी.

नई एंबुलेंस में 18 एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम लगा है. इसमें वेंटिलेटर, डी-फेबिलेटर, ईसीजी और ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था है. एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम से लैस एक-एक एंबुलेंस हर जिले में तैनात होगी. बाकी एंबुलेंस में बेसिक लाइफ सपोर्ट सिस्टम लगा हुआ मिलेगा. 'कैंप' कंपनी के जनरल मैनेजर प्रदीप राय का कहना है कि कंपनी भले ही नई हो, पर उत्तराखंड की जनता को अच्छी सर्विस मिलेगी.

108 सर्विस की शुरुआत उत्तराखंड में साल 2008 में हुई थी. 11 साल बाद ये काम दूसरी कंपनी संभालने जा रही है. एक वक्त पर 108 सर्विस का मैनेजमेंट संभाल चुके अनूप नौटियाल का कहना है कि बीते कुछ सालों में सर्विस पर कई सवाल खड़े हुए हैं. इसलिए जनता से जुड़ी इस सेवा पर सरकार को भी नजर बनाकर रखनी होगी. 108 सर्विस सीधे पब्लिक हेल्थ से जुड़ी सर्विस है. ऐसे में नई कंपनी के सामने जहां खराब इमेज को सुधारने की चुनौती है, वहीं सही वक्त पर मरीज को इलाज देना या फिर अस्पताल पहुंचाना भी किसी चैलेंज से कम नहीं है. इसमें असफल होने पर सवाल खड़े होते देर नहीं लगेगी.

ये भी पढ़ें - रस्किन बॉंड के प्रशंसकों के लिए अच्छी ख़बर, मसूरी में रिलीज़ की गई नई किताब... ‘कोकी’ज़ सॉंग’

ये भी देखें - मरीज़ों का इलाज नहीं, रेफ़र किया जाता है यहां...

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 23, 2019, 8:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...