राज्यसभा में अनिल बलूनी ने पूछा उत्तराखंड से जुड़ा यह महत्वपूर्ण सवाल... मंत्री जी ने कहा, बाद में बताऊंगा

नेशनल पार्कों के भीतर रहने वाले परिवारों तक आज भी पर्यावरणीय नियमों के कारण न तो सड़क पहुंच पाई है और न तो बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधा उन्हें मिल रही है.

Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 8:07 PM IST
राज्यसभा में अनिल बलूनी ने पूछा उत्तराखंड से जुड़ा यह महत्वपूर्ण सवाल... मंत्री जी ने कहा, बाद में बताऊंगा
भाजपा के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने राज्यसभा में बहुत महत्वपूर्ण मुद्दा उठाया है.
Manish Kumar
Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 8:07 PM IST
भाजपा के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने राज्यसभा में बहुत महत्वपूर्ण मुद्दा उठाया है. बलूनी ने राज्यसभा में मोदी सरकार से यह पूछा है कि क्या उत्तराखंड के टाइगर रिज़र्व, बायोस्फ़ीयर रिज़र्व यानि नेशनल पार्क के भीतर रहने वाले परिवारों को वहां से शिफ्ट करके दूसरी जगह बसाने की कोई योजना है? बलूनी ने यह सवाल इस संदर्भ में पूछा है क्योंकि नेशनल पार्कों के भीतर रहने वाले परिवारों तक आज भी पर्यावरणीय नियमों के कारण न तो सड़क पहुंच पाई है और न तो बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधा उन्हें मिल रही है.

'उत्तराखंड की जानकारी नहीं'

अनिल बलूनी ने राज्यसभा में पूछा है कि क्या मोदी सरकार वैसे परिवारों को वहां से शिफ्ट करके दूसरी ऐसी जगहों पर रीलोकेट करने की कोई योजना बना रही है जहां उन्हें सभी मूलभूत सुविधाएं मिल सकें. राज्यसभा में मोदी सरकार में वन और पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने अनिल बलूनी के इस सवाल का जवाब दिया.

अनिल बलूनी के बारे में ये क्या कह गए देहरादून आए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

अनिल बलूनी के सवाल के जवाब में भारत सरकार में वन और पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि वह इस सवाल का जवाब अलग से अनिल बलूनी को भेज देंगे. उन्होंने बताया कि उनके पास उत्तराखंड से संबंधित डाटा मौजूद नहीं है, जिसके बारे में वह संसद राज्यसभा को अवगत करा सकें.

'अलग से भेजेंगे जवाब'

हालांकि उन्होंने यह ज़रूर कहा कि देश भर में जितने भी राज्यों में ऐसे पार्क हैं उनके अंदर से परिवारों को विस्थापित करने के लिए पिछले 2 साल में लगभग 11,100 करोड़ रुपये मोदी सरकार ने खर्च किए हैं. उन्होंने मध्य प्रदेश का अलग से उदाहरण दिया लेकिन उत्तराखंड संबंधी जानकारी उनके पास नहीं थी इसलिए उन्होंने सांसद अनिल बलूनी को भरोसा दिया कि वह उन्हें अलग से इसका जवाब भेज देंगे.
Loading...

बता दें कि उत्तराखंड में 6 नेशनल पार्क, 5 वाइल्ड लाइफ सेंचुरी और 122 बायो स्फ़ीयर रिज़र्व हैं. इसके अलावा लगभग 71% भूमि वनाच्छादित है यानि वनों से घिरी हुई है.

सांसद अनिल बलूनी ने की ऋषिकेश व हल्द्वानी में रैन बसेरों का निर्माण कराने की घोषणा

लोकसभा चुनाव के दौरान अनिल बलूनी ने संभाला था पीएम मोदी का मीडिया कैंपेन

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.  
First published: July 22, 2019, 8:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...