होम /न्यूज /उत्तराखंड /एक महीने बाद कहां तक पहुंची अंक‍िता मर्डर केस की जांच और अभी तक SIT क्‍यों नहीं कर पाई चार्जशीट फाइल?

एक महीने बाद कहां तक पहुंची अंक‍िता मर्डर केस की जांच और अभी तक SIT क्‍यों नहीं कर पाई चार्जशीट फाइल?

किता हत्याकांड मामले में एक महीना बीत जाने के बाद भी एसआईटी टीम मामले में चार्जशीट को कोर्ट के सामने पेश नही कर पाई है.

किता हत्याकांड मामले में एक महीना बीत जाने के बाद भी एसआईटी टीम मामले में चार्जशीट को कोर्ट के सामने पेश नही कर पाई है.

Ankita murder case investigation: अंक‍िता मर्डर केस में SIT ने पूरे मामले में अभी तक 6 गवाहों के बयान कोर्ट में दर्ज कर ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बताया जा रहा है कि कुछ और पुख्ता सबूतों का अभाव है
थाना पुलिस से जांच हटाकर स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) का गठन 24 सितम्बर को किया गया था.

देहरादून. 18 सितम्बर को हुए प्रदेश का बहुचर्चित अंकिता हत्याकांड मामले में एक महीना बीत जाने के बाद भी एसआईटी टीम मामले में चार्जशीट को कोर्ट के सामने पेश नही कर पाई है. बताया जा रहा है कि कुछ और पुख्ता सबूतों का अभाव है, जिनके मिलते ही एसआईटी चार्जशीट कोर्ट में पेश करेगी, ताक‍ि आरोपियों को किसी भी तरह से कोर्ट से रिहायत न मिल पाए.

दरअसल, मामले में जल्द कार्रवाई होगी, जिसके लिए थाना पुलिस से जांच हटाकर स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) का गठन 24 सितम्बर को किया गया था, जिससे उम्मीदें थी कि एसआईटी महीने से पहले अपनी जांच रिपोर्ट कोर्ट में पेश करेगी और जनभावनाओं के तहत आरोपियों को जल्द फंसी के फंदे तक पहुंचाएगी.

जानें कब क्‍या हुआ
– 18 सितम्बर को हुई थी अंकिता की हत्या
– 19 सितम्बर को राजस्व पुलिस में आरोपी पुलकित ने दर्ज कराई थी अंकिता की गुमशुदगी का केस
– 22 को सोशल मीडिया के जर‍िए मामला सामने आया
– 23 को थाना लक्ष्मण झुला में अंक‍िता की गुमशुदगी का केस दर्ज हुआ और पुल‍िस ने 3 आरप‍ियों को अरेस्‍ट कर भेजा जेल
– 23 की रात को अंकिता जिस रिजोर्ट में रहती थी उस पर चला बुलडोजर
– 24 को आरोपियों की निशानदेही पर अंकिता का शव चिला डैम से बरामद हुआ
– 24 को अंकिता का एम्स अस्पताल पोस्टमार्टम हुआ और देर रात प्रोविजनल रिपोर्ट मिली. बिसरा के ल‍िए FSL को भेजा.
– 25 को कई विरोध के बाद देर शाम अंकिता का अंतिम संस्कार हुआ, सरकार ने पूरे मामले कि जांच के लिए गठित की SIT.
– 26 को SIT को मिली एम्स पोस्टमार्टम रिपोर्ट, रेप की नहीं हुई पुष्टि.
– 27 को घटना से पहले जिस बाइक और स्कूटी में अंकिता सवार थी उन दोनों को SIT ने लिए कब्जे में ल‍िया.
– 28 से 30 तक SIT ने रिजोर्ट में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के बयान दर्ज क‍िए.
– 29 को अंकिता के दोस्त पुष्प से शुरू हुई पूछताछ, साथ ही तीनों आरोपियों को र‍िमांड पर ल‍िया.

वहीं SIT ने पूरे मामले में अभी तक 6 गवाहों के बयान कोर्ट में दर्ज करवाएं हैं और साथ ही 30 अन्य गवाहों के बयान भी दर्ज क‍िए हैं. SIT का दावा था कि महीना पूरा होने तक कोर्ट में चार्जशीट दाख‍िल कर देंगे लेक‍िन एक महीना बीत जाने के बाद भी अभी तक SIT सबूतों को ही तलाश रही है.

क्‍या-क्‍या खुलासे हुए इस केस में अब तक
– 1 अक्टूबर को अंकिता के तीनों आरोप‍ियों और पुष्प को आमने सामने बैठा कर SIT ने पूछताछ की. आरोपियों ने बयान में कहा कि रिजोर्ट घाटे में चल रहा था. इसल‍िए अंकिता पर स्पेशल सर्विस का दबाव बनाया था.
– 2 अक्टूबर को तीनों आरोपियों को पुल‍िस ने तीन द‍िनों की र‍िमांड पर ल‍िया और उनसे 400 से ज्यादा सवाल पूछे.
– 5 अक्टूबर को SIT ने जांच के दौरान म‍िले सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को जांच के ल‍िए चंडीगढ़ भेजा.
– 8 अक्‍टूबर को एसआईटी ने इस मामले केस में अनैतिक देह व्यापार निवारण अधिनियम एक्ट के तहत बड़ी धारा भी शाम‍िल कर ली थी.
– 13 अक्टूबर को सरकार ने मामले की सुनवाई के लिए हाईकोर्ट में फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन की अर्जी लगाई
– 14 अक्टूबर को एसआईटी को फोरेंसिक रिपोर्ट मिली, जिसमें रेप होने की पुष्टि नहीं हुई.

इस मामले की जांच कर रही एसआईटी अब हर पहलूओं को देख रही है और हत्यारों को कठोर सजा मिले इस पर भी अहम सबूतों को छान रही है. क्यूंकि मामला प्रदेश की जन भावनाओं से जुड़ा है और जनता का तीनों आरोपियों के खिलाफ आज भी आक्रोश कम नहीं हुआ है.

Tags: UK News, Uttrakhand

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें