लाइव टीवी

अंदरूनी खींचतान के चलते फिर टली बीजेपी ज़िलाध्यक्षों की घोषणा की तारीख... अब 15 दिसंबर को होगी

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: December 11, 2019, 6:47 PM IST
अंदरूनी खींचतान के चलते फिर टली बीजेपी ज़िलाध्यक्षों की घोषणा की तारीख... अब 15 दिसंबर को होगी
बीजेपी ने बूथ और फिर मंडल अध्यक्षों के चुनाव तो बिना बवाल संपन्न करा लिए लेकिन जिलाध्यक्षों के चुनाव पार्टी के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पार्टी के नेता कहते हैं कि सभी दावेदार पार्टी के कार्यकर्ता (party worker) हैं और उनके बीच सामंजस्य बनाने में समय लग जाता है.

  • Share this:
देहरादून. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के संगठनात्मक चुनाव (Organisation Election) के तहत ज़िलाध्यक्षों की घोषणा पर फिल्हाल ब्रेक लग गया है. अब यह सूची 15 दिसंबर तक जारी होगी. पार्टी ने बूथ और फिर मंडल अध्यक्षों के चुनाव तो बिना बवाल संपन्न करा लिए लेकिन जिलाध्यक्षों के चुनाव पार्टी के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहे हैं. पहले  पांच दिसंबर तक ज़िलाध्यक्षों की घोषणा की बात कही गई फिर यह डेट बढ़ाकर आठ दिसंबर कर दी गई. अब इसे 15 दिसंबर कर दिया गया. नतीजा यह हुआ है कि प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा की तारीख भी टल गई है. पहले 15 दिसंबर को इस तारीख की घोषणा होनी थी अब यह 25 दिसंबर को होगी.

अपनी-अपनी पसंद पर अड़े नेता 

पार्टी संगठन के 14 ज़िलों से करीब 140 कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष के लिए दावेदारी की थी. इनमें से शॉर्टलिस्ट कर प्रत्येक जिले से तीन-तीन नाम प्रदेश नेतृत्व को सौंपे गए थे. सूत्रों की माने तो इन तीन-तीन नामों पर भी सहमति नहीं बन पा रही है. कहीं विधायक तो कहीं मंत्री अपने पसंदीदा कैंडिडेट पर अड़े हुए हैं.

ज़िलाध्यक्ष कैंडिडेट के लिए पार्टी ने उम्र, आर्थिक स्थिति, जातिगत और सामाजिक समीकरणों का एक पैरामीटर भी तैयार कर रखा है इसके बावजूद पार्टी के भीतर एक राय नहीं बन पा रही है.

लोकतंत्र का परिचायक 

पार्टी के नेता कहते हैं कि यह पार्टी के अंदर लोकतंत्र और इसकी लोकप्रियता का परिचायक है. बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट कहते हैं कि सभी दावेदार पार्टी के कार्यकर्ता हैं और उनके बीच सामंजस्य बनाने में समय लग जाता है. पार्टी को सभी की भावनाओं का ख्याल रखना है और सबको साथ लेकर चलना है.

दरअसल नवनियुक्त जिलाध्यक्षों का कार्यकाल 2022 तक होगा. साफ़ है कि अगले विधानसभा चुनाव की कमान इन्हीं के कंधों पर होगी लिहाज़ा विधायक से लेकर मंत्री तक सब अपनी पसंद का जिलाध्यक्ष चाहते हैं. यही खींचतान सही चुनाव के राह में सबसे बड़ा रोड़ा बनी हुई है.ये भी देखें: 

उत्तराखंड बीजेपी में भी नए प्रदेश अध्यक्ष की सुगबुगाहट तेज़, रेस में हैं ये तीन नाम 

अजय कुमार को बनाया गया उत्तराखंड BJP का नया संगठन महामंत्री

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 6:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर