अरविंद पांडेय ने शपथ ग्रहण में बना लिया अनोखा रिकॉर्ड, कुछ ऐसी है तीरथ कैबिनेट

शपथ ग्रहण के दौरान अरविंद पाण्डेय ने संस्कृत भाषा में शपथ लेकर इतिहास रच दिया.

शपथ ग्रहण के दौरान अरविंद पाण्डेय ने संस्कृत भाषा में शपथ लेकर इतिहास रच दिया.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अपनी कैबिनेट का विस्तार किया जिसमें नए चेहरे के तौर पर पांच मंत्री शामिल हुए. राज्य की द्वितीय राजभाषा संस्कृत में शपथ लेकर अरविंद पांडेय ने इतिहास रच दिया.

  • Share this:
देहरादून. मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को अपनी कैबिनेट का विस्तार किया. शपथ ग्रहण के दौरान अरविंद पाण्डेय ने संस्कृत भाषा में शपथ लेकर इतिहास रच दिया. राज्य की द्वितीय राजभाषा संस्कृत में शपथ ग्रहण लेने वाले वह पहले कैबिनेट मंत्री बन गए हैं. त्रिवेंद्र कैबिनेट में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार रही रेखा आर्य पारंपरिक वेशभूषा में तीरथ कैबिनेट में शपथ लेने पहुंची. उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र कैबिनेट में भी उन्होंने निष्ठापूर्ण भावना से काम किया था और तीरथ कैबिनेट में भी वह राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार की जिम्मेदारी पूरी ईमानदारी से निभाएंगी.

तीरथ कैबिनेट में स्वामी यतीश्वरानंद भी राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के तौर पर शामिल हुए हैं. मसूरी से विधायक गणेश जोशी का कद बढ़ाया गया है. उन्हें कैबिनेट मंत्री के तौर पर जगह मिली है. शपथग्रहण के दौरान उनकी आंखें भी छलक गईं. उन्होंने कहा कि देर आए दुरुस्त आए. बीजेपी में प्रदेश अध्य्क्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे बंशीधर भगत भी अब कैबिनेट मंत्री के तौर पर तीरथ कैबिनेट में काम करेंगे जबकि उनकी जगह मदन कौशिक को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार सौंपा गया है.

नए चेहरे के तौर पर तीरथ कैबिनेट में बिशन सिंह चुफाल भी शामिल हुए हैं जबकि सतपाल महाराज, धनसिंह रावत, अरविंद पांडेय, सुबोध उनियाल, त्रिवेंद्र कैबिनेट में मंत्री के तौर पर जिम्मेदरियां संभाल रहे थे. अब भी काम करते रहेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज